रक्तदान : जीवनदान : महादान

रक्तदान का पूरा श्रेय लायंस क्लब बिजयनगर, लायंस क्लब क्लासिक, जैन सोश्यल ग्रुप, प्राज्ञ जैन युवा मंडल, भारत विकास परिषद, लायंस क्लब ‘रायलÓ, राजस्थान ब्राह्मण महासभा, बाड़ी माता मंदिर ट्रस्ट, अग्रवाल समाज सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को जाता है। रक्तदान व नेत्रदान में जुटी इन संस्थाओं के पदाधिकारी, कार्यकर्ता, व रक्त-नेत्र दानदाता बधाई के पात्र हैं।
बिजयनगर में दानदाताओं ने हर सामाजिक व धार्मिक कार्यों में बढ़चढ़ कर अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है। नेत्रदान हो अथवा रक्तदान, बिजयनगर सहित आसपास के क्षेत्रों की सामाजिक संस्थाओं ने लोगों को प्रेरित किया है। इसका परिणाम भी सकारात्मक ही रहा है। अच्छी बात यह है कि लोग अब धीरे-धीरे जागरूक हो रहे हैं।

रक्तदान शिविरों में लोगों की सहभागिता भी बढ़ती जा रही है। इसका पूरा श्रेय लायंस क्लब बिजयनगर, लायंस क्लब क्लासिक, जैन सोश्यल ग्रुप, प्राज्ञ जैन युवा मंडल, भारत विकास परिषद, लायंस क्लब ‘रायल’, राजस्थान ब्राह्मण महासभा, बाड़ी माता मंदिर ट्रस्ट, अग्रवाल समाज सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को जाता है। रक्तदान व नेत्रदान में जुटी इन संस्थाओं के पदाधिकारी, कार्यकर्ता, व रक्त-नेत्रदानदाता बधाई के पात्र हैं। खास बात यह कि अब बिजयनगर में जागरूक लोग सपत्नी शिविर में रक्तदान करने पहुंचते हैं। चिकित्सकीय (स्वास्थ्य) पहलू से भी विचार करें तो रक्तदान स्वस्थ शरीर के लिए आवश्यक है।

रक्तदान करने वालों की जांचें भी मुफ्त होती हैं। दरअसल, रक्तदान एक ऐसा पुनीत कार्य है जिससे पुण्य तो होता ही है यानी कि किसी की जान तो बचती ही है, स्वयं रक्तदान करने वालों की सेहत भी अच्छी रहती है। चिकित्सा विज्ञान का कहना है कि 90 दिन के बाद रक्त पुन: शरीर में तैयार हो जाता है। पुराना हर कोई बदलना चाहता है, क्यों न किसी की जान बचा कर रक्तदान का पुण्य हासिल किया जाए। रक्तदान का क्या महत्व है यह उससे अधिक कौन जान सकता है, जिसे रक्त चढ़ाकर जीवन की डोर को बनाए रखा जाता है। पुन:श्च रक्तदान व नेत्रदान में जुटी बिजयनगर की तमाम संस्थाएं बधाई के पात्र हैं। आइए, रक्तदान कर किसी की जीवन बचाने का पुण्य कार्य करें।

– जय एस. चौहान –

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar