पद्मिनी राष्ट्रीय अस्मिता की प्रतीक-डूडी

  • Devendra
  • 10/11/2017
  • Comments Off on पद्मिनी राष्ट्रीय अस्मिता की प्रतीक-डूडी

जयपुर (वार्ता) राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा है कि तत्कालीन चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मिनी को राष्ट्रीय अस्मिता की प्रतीक बताते हुए कहा है कि फिल्म बनाने के लिए राज्य के इतिहास एवं संस्कृति के साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए।
श्री डूडी ने आज यहां एक बयान में कहा कि पद्मनि किसी एक समाज या प्रान्त की नहीं बल्कि राष्ट्रीय अस्मिता के साथ स्वाभिमान, शौर्य एवं बलिदान की प्रतीक हैं और फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली राजस्थान के इतिहास एवं संस्कृति पर फिल्म बना रहे हैं जो स्वागत योग्य हैं लेकिन इसमें राज्य के इतिहास के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए।
उन्होंने कहा कि पद्मावती फिल्म को लेकर समाज में रोष व्याप्त है और किसी फिल्मकार को समाज को आहत करने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि राजस्थान रणबांकुरों एवं वीरांगनाओं की धरती है। राणा प्रताप, पन्ना धाय, मीरां, रानी पद्मिनी जैसे मेवाड़ के ऐतिहासिक नायकों से पूरा देश ही नहीं विश्व प्रेरणा लेता है। इसलिए विवादित पद्मावती फिल्म को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को अपना नजरिया स्पष्ट करते हुए प्रदेश हित में कोई निर्णय लेना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि पद्मावती फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ को लेकर राज्य में हिन्दू संगठन एवं राजपूत समाज
इसके प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar