नन्दी गौशाला के लिए दिये जायेंगे पचास लाख रुपए: किलक

जयपुर। (वार्ता) राजस्थान के सहकारिता एवं गोपालन मंत्री अजय सिंह किलक ने आज बताया कि प्रत्येक जिले में खोली जाने वाली नन्दी गौशाला के लिये पचास लाख रुपये तक की राशि दी जायेगी। श्री किलक ने बताया कि राशि का उपयोग नन्दी गौशाला की मूलभूत सुविधाएं गौआवास, चारा ठाण, पानी की खेली, गोपालक आवास आदि के लिये किया जायेगा। इस निर्णय से जिलों में निराश्रित गौवंश को आश्रय मिलेगा, किसानों की फसलें नुकसान से सुरक्षित रह पायेंगी एवं गौवंश को बेहतर जीवन की सुविधायें भी उपलब्ध होंगी।

उन्होंने बताया कि प्रत्येक नन्दी गौशाला में कम से कम 500 नन्दी गौवंश रखना अनिवार्य होगा तथा पहले वर्ष में न्यूनतम आवश्यक सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए किये जाने वाले निर्माण कार्यों एवं सुविधाओं के विकास की सूची एवं लागत का विवरण तैयार कर जिला कलक्टर को प्रस्तुत करना होगा।

उन्होंने बताया कि जिले में निराश्रित एवं असहाय नर गौवंश की समस्या की अधिकता वाले क्षेत्रों का चिह्नीकरण किया जायेगा। जिला कलक्टर भूमि की उपलब्धता को ध्यान में रखकर स्थानीय भामाशाह, दानदाता, समाजसेवी, धार्मिक ट्रस्ट, औद्योगिक संस्थान एवं अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर नन्दी गौशाला के संचालन के लिये उपयुक्त संस्था का चयन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar