वारंट के बाद भी दाती महाराज गिरफ्तार क्यों नहीं: अदालत

नई दिल्ली। (वार्ता) यौन शोषण के आरोप में घिरे दाती महाराज की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं, दिल्ली की एक अदालत ने अपनी ही शिष्या के साथ दुष्कर्म के आरोपी दक्षिण दिल्ली के फतेहपुर बेरी स्थित शनिधाम मंदिर के संचालक दाती महाराज की अब तक गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा है। साकेत अदालत की मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट पूजा तलवार ने मंगलवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि दाती महाराज के खिलाफ वारंट जारी होने के बाद भी अभी तक उसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं की गयी है।

मजिस्ट्रेट तलवार ने दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के उपायुक्त को निर्देश दिया कि वह इस मामले की जांच पर निगरानी रखें और अदालत को हर सप्ताह स्थिति रिपोर्ट सौंपे जाने को सुनिश्चित करें। मजिस्ट्रेट ने कहा कि जांच अधिकारी यह स्पष्ट नहीं कर पाया कि जांच के दौरान आरोपी भाग नहीं पाये इसके लिए क्या कदम उठाये गए हैं। अदालत ने इस मामले की जांच तेज करने का निर्देश देते हुए अगली सुनवाई तीन जुलाई तय की है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में सोमवार को साकेत अदालत में मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट अनुराग दास की अदालत में तीन पृष्ठों की स्थिति रिपोर्ट फाइल की थी। जांच रिपोर्ट में कहा गया था कि दाती मदन लाल महाराज के खिलाफ लगाये गए आरोपों की जांच जारी है और प्रयास किए जा रहे हैं कि इसे “तार्किक परिणति” तक पहुंचाया जाये।

मूल रूप से राजस्थान की रहने वाली युवती ने छह जून को दाती महाराज और उसके तीन भाइयों के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई थी। युवती ने अपनी शिकायत में कहा था कि राजस्थान के पाली स्थित आश्रम में चरण सेवा के नाम पर उसके साथ दुष्कर्म किया। अपराध शाखा ने जांच में दाती महाराज के आश्रमों की सीसीटीवी फुटेज खंगालने के अलावा कई लोगों के बयान भी दर्ज किए हैं। जांच अधिकारी के आग्रह पर ही मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट ने मामला मुख्य मेट्रोपालिटेन मजिस्ट्रेट की अदालत में हस्तांतिरत किया था। इससे मामले में दाती महाराज कई बार पुलिस के समक्ष पूछताछ के लिए हाजिर हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar