जनहित में हमारी सरकार सभी परियोजनाओं को पूरा कर रही: मोदी

मीरजापुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वाराणसी में भाजपा काशी प्रांत की बैठक के बाद मीरजापुर का रुख किया। मीरजापुर में बाणसागर परियोजना का लोकार्पण करने के साथ ही पीएम मोदी ने मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया। बाणसागर परियोजना, चुनार में गंगा पर पुल सहित विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और मेडिकल कालेज का शिलान्यास करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में कर स्थानीय जनता को खुद से जोड़ा।

मंचासीन लोगों और जनता का स्वागत करने के बाद पीएम ने कहा, मैं कब से मंच से देख रहा हूं कि दोनों तरफ से लोगों के आने का क्रम जारी है। यह पूरा क्षेत्र दिव्य और अलौकिक है। विंध्य पर्वत और भागीरथी के बीच बसा यह क्षेत्र बरसों से अपार संभावनाओं का केंद्र रहा है। इन्हीं संभावनाओं और विकास कार्यों के बीच मुझे आपका आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य मिला है। मार्च में जब मैं यहां सोलर प्लांट का उद्घाटन करने आया था तब मेरे साथ फ्रांस के राष्ट्रपति भी थे। तब स्वागत माता की तस्वीर और चुनरी से हमारा स्वागत हुआ और मैंक्रो अभिभूत हो गए। मां की महिमा को जानकर प्रभावित हुए। आस्था की धरती का चौतरफा विकास हमारी प्रतिबद्धता है।

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में सरकार में आने के बाद हमारी सरकार ने जब अटकी-लटकी-भटकी हुई योजनाओं को खंगालना शुरू किया तो उसमें इस प्रोजेक्ट का भी नाम आया। इसके बाद बाण सागर परियोजना को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत जोड़ा गया और इसे पूरा करने के लिए सारी ऊर्जा लगा दी गई। पीएम मोदी ने कहा कि लगभग 3,500 करोड़ की बाण सागर परियोजना से सिर्फ मिर्जापुर ही नहीं बल्कि इलाहाबाद समेत इस पूरे क्षेत्र की 1.5 लाख हेक्टेयर जमीन को सिंचाई की सुविधा मिलने जा रही है। अगर प्रोजेक्ट पहले पूरा हो जाता, तो जो लाभ अब आपको मिलेगा, वो पहले से मिलने लगता। पीएम मोदी ने कहा कि किसानों के नाम पर पहले की सरकारें आधी-अधूरी योजनाएं बनाती रहीं, आप सब भुक्तभोगी हैं। इस क्षेत्र के लिए, यहां के गरीब, वंचित, शोषित के लिए जो सपने सोनेलाल पटेलजी जैसे कर्मशील लोगों ने देखे, उनको पूरा करने की तरफ हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बाणसागर बांध सहित 4000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है यहां। इस क्षेत्र का विकास तेज होगा। मीरजापुर, सोनभद्र, भदोही, इलाहाबाद और चंदौली आदि में खेती-किसानी यहां का अहम हिस्सा रहा है। पहले की सरकारें आधी अधूरी योजनाएं बनाती थीं और लटकाती थीं। इसके भुक्तभोगी आप सभी हैं। बाण सागर प्रोजेक्ट यदि पहले पूरा हो जाता तो जो लाभ अब आपको मिलने जा रहा है वो दो दशक पहले मिलने लगता। दो दशक बर्बाद हो गए। पहले की सरकारों ने किसानों की चिंता नहीं की। इस प्रोजेक्ट का खाका चालीस साल पहले खींचा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसके बाद कई सरकारें आई और गईं लेकिन सिर्फ बातें और वादे हुए, जनता को कुछ नहीं मिला। 2014 में आप सभी ने हमें काम करने का मौका दिया। हमारी सरकार ने अटकी, लटकी और भटकी हुई योजनाओं को तलाशना शुरू किया तो यह बाणसागर परियोजना भी हमें मिली। इसे पूरा करने में पूरी ऊर्जा लगा दी गई। योगी की टीम ने तेजी से काम किया और  यह परियोजना तैयार होकर आपके जीवन को खुशहाल करने के लिए तैयार है। अन्य अटकी परियोजनाओं में से सरयू नहर परियोजना और मध्य गंगा सागर परियोजना पर भी अब तेजी से काम चल रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बरसों पहले जा सुविधा आपको मिलनी चाहिए थी, वो तो मिली नहीं, देश को भी आर्थिक नुकसान हुआ। 300 करोड़ की बाणसागर परियोजना यदि तब बन जाती तो अब साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये न खर्च होता। यह आपके पैसे की बर्बादी है कि नहीं, आपको हक से वंचित रखा गया। जो लोग आज किसानों के लिए घडिय़ाली आंसू बहाते हैं उनसे पूछना चाहिए कि ऐसी सिंचाई परियोजनाएं उन्हें क्यों नजर नहीं आईं। पूरे देश में, कई राज्यों में ऐसी अटकी, लटकी और भटकी परियोजनाएं हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब से योगी की अगुवाई में एनडीए की सरकार बनी है, पूरे पूर्वांचल और प्रदेश के विकास की गति बढ़ी है। परिणाम नजर आने लगे हैं। यहां के लोगों के लिए सोने लाल पटेल जैसे लोगों ने जो सपना देखा था उसे हम सभी मिलकर पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं निरंतर। पिछले दो दिनों में कई कार्यों को समर्पित करने और नए कार्य की शुरुआत करने का मौका मिला। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, पेरीशेरेबल कार्गो सेंटर, रेलवे सहित अन्य कार्य विकास को गति देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar