चक्का जाम ने बढ़ाई लोगों की मुसीबत

रोडवेज की हड़ताल : लोगों को घंटों तक करना पड़ा इंतजार
बिजयनगर। रोडवेज के श्रमिक संगठनों के आह्वान पर बुधवार से हुई रोडवेज की चक्का जाम हड़ताल से आम जन-जीवन खासा प्रभावित हो रहा है। बिजयनगर-गुलाबपुरा सहित आसपास के विभिन्न क्षेत्रों भिनाय, बांदनवाड़ा, रायला व मसूदा आदि स्थानों के बस स्टॉप पर लोग गंतव्य स्थान पर पहुंचने के लिए घंटों बसों के इंतजार में खड़े रहे। कोढ़ में खाज यह है कि बसों के इंतजार में परेशान यात्रियों की परेशानी को बूंदाबादी ने बढ़ा दिया। ऐसे में लोगों को कीचड़ और गंदगी के बीच घंटों इंतजार में बिताने पर विवश होना पड़ा। छोटे बच्चों के साथ बस स्टॉप पर इंतजार कर रही महिलाओं व बुजुर्गों को ऐसे हालात में काफी परेशानी हुई।

हड़ताल से अनभिज्ञ लोग अपने-अपने गंतव्य स्थानों पर पहुंचने के लिए बुधवार सुबह बिजयनगर के हाइवे पर स्थित 27 मील चौराहे एवं गुलाबपुरा के 29 मील चौराहे पर पहुंच गए, लेकिन देर तक इंतजार के बाद भी बसें नहीं मिलने पर उन्हें हड़ताल की जानकारी मिली। ऐसे में लोगों को मार्ग से गुजर रही टेक्सियों व निजी बसों का सहारा लेना पड़ा। आम दिनों में किफायती किराये में ले जाने वाली निजी बसों के ऑपरेटरों ने मौके का फायदा उठाते हुए जमकर चांदी कूटी और लोगों से मनमाना किराया वसूला। वहीं बांदनवाड़ा, मसूदा व रायला की ओर चलने वाली जीपों व टैक्सियां ओवरलोड सवारियों को लेकर चली। लोगों ने जान जोखिम डालकर यात्रा की। जिन लोगों को अति आवश्यक कार्य से बाहर जाना था उन पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा, वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्होंने हड़ताल को देखते हुए अपनी यात्रा स्थगित कर घर लौटना मुनासिब समझा। कई यात्रियों को निजी बसों में भीड़भाड़ के बीच घंटों खड़े रहकर यात्रा करने पर मजबूर होना पड़ा।

भीलवाड़ा जाने के लिए घंटों से बस का इंतजार कर रहा हूं…
क्या बताऊं भाईसाहब पौन घंटे से यहां 27 मील चौराहे पर खड़ा रहकर भीलवाड़ा जाने वाली बस का इंतजार कर रहा हूं, लेकिन अभी तक कोई साधन नहीं मिला और मेरा वहां पहुंचना जरूरी है। क्या करूं, कैसे जाऊं। यही सोच रहा हूं। ऐसे में कितनी देर और खड़ा रहना पड़ेगा यह तो भगवान ही जाने।


भागचन्द सेन, धनोप
मैं सेवानिवृत कर्मचारी हूं और पेंशन पत्रावली के जरूरी काम से मुझे आज ही भीलवाड़ा पहुंचना है। मुझे मालूम नहीं था कि आज बसों की हड़ताल है। इसलिए गांव से चलकर 27 मील चौराहा पर आ गया हूं और आधे घंटे से भीलवाड़ा की बस का इंतजार कर रहा हूं।


कन्हैयालाल शर्मा, जालिया द्वितीय
पारिवारिक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए मुझे आज 11 बजे से पहले भीलवाड़ा पहुंचना था लेकिन यहां २९ मील चौराहे पर आधा घंटे से इंतजार के बाद भी न तो मुझे कोई बस मिली है और न ही कोई टैक्सी। ऐसे में क्या पता कितनी देर और यहां खड़ा रहना पड़ेगा।


सुभाष त्रिपाठी, गुलाबपुरा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar