इमरान बोले भारत के साथ कश्‍मीर मुद्दे के हल पर होगी बात

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान के आम चुनाव में इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ बंपर जीत हासिल करती दिख रही है। रुझानों के मुताबिक, पीटीआई को सबसे ज्यादा 118 सीटें मिलती दिख रही हैं। ऐसे में इमरान खान का प्रधानमंत्री बनना तय दिख रहा है। इन रुझानों के बाद पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इमरान खान ने कहा कि हमारी 22 सालों की मेहनत रंग लाई है। मैं अल्लाह का धन्यवाद करता हूं कि हमें चुनाव में बहुमत मिला। खान ने कहा कि हम देश के किसान, गरीब तबके के लिए काम करेंगे। हम कमजोर तबके के लिए नीतियां बनाएंगे।

भारत का जिक्र करते हुए इमरान ने कहा कि भारतीय मीडिया ने मेरी गलत छबि पेश की। कश्‍मीर के हालात ठीक नहीं हैं। पाकिस्‍तान को शांति की जरूरत है। भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍ते अच्‍छे होना चाहिये। कोशिश ये हो कि दोनों मुल्‍कों के बीच एक साथ टेबल पर बैठकर बात होना चाहिये। दुनिया में कहीं भी आतंकवाद हो, पाकिस्‍तान को गलत ढंग से पेश किया जाता है। हमें ये सारी बातें भूलकर बात करना चाहिये। मैं पाकिस्तान में इंसानियत का राज कायम करना चाहता हूं। पाकिस्तान में अगली सरकार किसकी होगी इसे लेकर बना हुआ संशय अब खत्म हो चुका है।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिलने के बाद यह साफ है कि देश के नए प्रधानमंत्री इमरान खान बनेंगे। इमरान खान देश के नाम एक संबोधन दे रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि उनकी 22 वर्षों की मेहनत रंग लाई है। इमरान ने कहा कि हमारे देश में पीने का साफ पानी भी नहीं है। ना ठीक से शिक्षा की कोई व्‍यवस्‍था है। मैं पाकिस्‍तान को इंसानियत का पाकिस्‍तान बनाना चाहता हूं। मैं गरीबों, किसानों और मजदूरों के लिए काम करुंगा। देश में ढाई करोड़ बच्‍चे स्‍कूल नहीं जा पाते हैं।

हमारी कोशिश रहेगी कि बच्‍चों को स्‍कूल नसीब हो।इमरान ने अपने भाषण में भारत का नाम लिए बिना चीन के विकास की तारीफ की। उन्‍होंने कहा कि मैं कानून का राज कायम करुंगा। बदले की राजनीति नहीं करेंगे। हमारी सरकार बदले की भावना से काम नहीं करेगी।इस बीच इमरान खान की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। निजी सुरक्षा गार्डों के बजाए इस्लामाबाद में उनके घर के बाहर पुलिस तैनात हो गई है। वो भी प्रधानमंत्री बनने से पहले। इस बीच वसीम अकरम ने भी इमरान खान के जाकर उनके मुलाकात की है।

पाकिस्तान के चुनावी इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब खैबर पख्तूनख्वा और पंजाब प्रांत में महिलाओं ने बढ़-चढ़कर वोट डाले हैं। नए नियमों के तहत चुनाव के नतीजे तभी वैध माने जाएंगे, जब संबंधित सीट पर दस फीसद से ज्यादा महिला वोटर्स ने वोट डाले होंगे। देश के पूर्व पीएम शाहीद खकान अब्बासी मुर्री सीट से हार गए हैं। उन्हें इमरान खान के उम्मीदवार सदाकत अब्बासी ने हरा दिया है।

इससे पहले मतगणना में धांधली के बाद नतीजों पर रोक लगा दी गई थी। अब तक सामने आए रुझानों के मुताबिक, इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने बढ़त बनाते हुए 119 सीटों पर कब्जा किया है वहीं नवाज शरीफ की पार्टी 56 जबकि बिलावल भुट्टो की पार्टी को 36 सीटों पर बढ़त थी। पार्टी नेता शहबाज शरीफ ने रुझानों की शक्ल में आ रहे नतीजों को मानने से इंकार कर दिया है। इसके बाद चुनाव आयोग ने अल सुबह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सभी आरोपों से इन्कार किया है।

इमरान खान सबसे आगे: पाकिस्तान में त्रिशंकु संसद के आसार हैं। नई सरकार चुनने के लिए बुधवार को नेशनल असेंबली यानी संसद की 272 में से 270 सीटों पर हुए मतदान के बाद मतगणना के रुझान यही कह रहे हैं। दो सीटों पर प्रत्याशियों के निधन के कारण चुनाव स्थगित हो गए थे।

230 सीटों के रुझानों में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ(पीटीआइ) 119 सीटों में आगे चल रही है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग (नवाज) 56 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर है। पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) 36 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर चल रही हैं। जाहिर है कि त्रिशंकु नेशनल असेंबली की सूरत में जरदारी “किंगमेकर” साबित हो सकते हैं।

मुहाजिरों की पार्टी एमक्यूएम 11 सीटों पर आगे है। 18 सीटों पर निर्दलीय भी आगे चल रहे हैं। पाकिस्तान की संसद नेशनल असेंबली के साथ चार प्रांतों की विधानसभाओं के लिए बुधवार को ही एक साथ मतदान कराया गया। इससे पहले बलूचिस्तान के क्वेटा में मतदान के दौरान एक बूथ के बाहर आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। धमाके में 35 लोगों की मौत हो गई।

पाकिस्तान के 85 हजार से ज्यादा मतदान केंद्रों पर सुबह आठ बजे मतदान शुरू हुआ। कई मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से ही वोटरों की कतारें लग गई थीं। शाम छह बजे मतदान समाप्त होने के तुरंत बाद वोटों की गिनती शुरू हो गई। चुनाव आयोग ने नतीजे 24 घंटे के भीतर घोषित कर देने की बात कही है। सुरक्षित चुनाव कराने के लिए देशभर में सेना के 3.70 लाख जवानों के अलावा 4.50 लाख पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए थे।

इमरान ने एक सीट जीती, चार पर आगे: इमरान पांच सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें से कराची पूर्व की सीट उन्होंने जीत ली है। हैरत की बात यह है कि बाकी चारों सीटों यानी लाहौर, बन्नू, रावलपिंडी और मियांवलीपर में भी वह काफी आगे चल रहे हैं। वे पार्टी के 22 साल के इतिहास में अब तक की सबसे ज्यादा सीटें जीतने की उम्मीद कर रहे हैं।

भावी पीएम की सुरक्षा बढ़ी: क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पाकिस्तान आम चुनाव में उनकी पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में उभरते हुए नजर आ रही है। इसलिए उनके आवास के करीब सुरक्षा बढ़ा दी गई है। कहा जाता है कि इमरान को सेना और खुफिया एजेंसी आइएसआइ का समर्थन है।

जरदारी और बिलावल भी आगे: पीपीपी के अध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी 25 साल में पहली बार नेशनल असेंबली के सदस्य बनेंगे। इससे पहले वह 1993 में नेशनल असेंबली के लिए चुने गए थे। पीपीपी के सह-अध्यक्ष और जरदारी के पुत्र बिलावल भुट्टो ल्यारी और लरकाना-2 में आगे चल रहे हैं। वैसे वह कुल चार सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। बिलावल का यह पहला चुनाव है।

पंजाब नवाज तो सिंध बिलावल के साथ: प्रांतीय चुनावों में पंजाब में नवाज की पार्टी पीएमएल-एन 131 सीटों में बढ़त के साथ साधारण बहुमत के करीब पहुंच चुकी है। पीटीआइ 112 सीटों पर आगे है। पंजाब प्रांत की कुल 297 सीटों में से 257 के रुझान ही उपलब्ध हैं। पंजाब में पीटीआइ नेशनल असेंबली की 59 सीटों पर भी आगे है। गौरतलब है कि इस समय नवाज शरीफ अपनी बेटी और दामाद के साथ भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में बंद हैं। उधर, सिंध विधानसभा में अपने परंपरागत गढ़ में पीपीपी 60 सीटों में बढ़त बनाकर सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। यहां कुल 131 सीटों में से केवल 92 सीटों के ही रुझान मौजूद हैं। जबकि खैबर पख्तूनख्वा में पीटीआइ 99 सीटों में से 18 पर आगे चल रही है। आवामी लीग में छह विधानसभा सीटों पर आगे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar