पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व. प्रो. सांवरलाल जाट की मूर्ति अनावरण समारोह में उमड़ा जन सैलाब

भिनाय। (पंकज दवे) निकटवर्ती ग्राम गोपालपुरा में गुरूवार को किसान नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व.प्रो.सांवरलाल जाट की प्रतिमा का अनावरण मुख्य अतिथि बिहार के महामहिम राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने समारोहपूर्वक किया। जाट की प्रथम पुण्य तिथि पर आयोजित प्रतिमा अनावरण समारोह का संबोधन एक सायरी के साथ किया। उन्होने कहा कि कोई लगा न सका उसके कद का अन्दाजा, वो आसमान था, लेकिन सर झुका के चलता था। इसी के साथ ही अपने संबोधन को आगे बढाते हुए स्वर्गीय जाट के सम्मान में कसीदे कढते हुए कहा कि वे एक सादगी की मिसाल थे। चाय की थड़ी पर बैठ कर जनता की समस्याओं का समाधान करते थे। नेताओं में किसान और किसानों में नेता लगते थे।

उन्होने इस दौरान स्वर्गीय जाट की तुलना किसान नेता सर छोटूराम व नाथूराम मिर्धा से की। अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि किसान हित के लिए दोनो ने मिलकर सरकार के समक्ष स्वामिनाथन कमेटी की रिपोर्ट को लागू करने की मांग रखी थी। जो आज केन्द्र सरकार ने स्वीकार कर किसानों की फसल की डेड गुणा एम एस पी बढा़ कर स्वर्गीय जाट को सच्ची श्रद्धांजली दी। उन्होने कहा कि स्वर्गीय जाट राजस्थान के गांव-गांव ढाणी-ढाणी में टंकिया बनाकर, पाईप लाईन डालकर व हैण्डपम्प, टयूबवेल खोद कर आम जनता को पीने का पानी पहुंचा कर राजस्थान के भागीरथ बन कर उबरे।

जिसका ताजा उदाहरण दूनी विधानसभा चुनाव में देखने को मिला जहां एक टंकी बनने से 12 गांवो को पेयजल उपलब्ध हुआ व एक टंकी की वजह से भाजपा उपचुनाव जीत गई। समारोह में मोजूद किसानों को एकता की सीख देते हुए जातिवाद छोड कर एक जुट होकर संघर्ष करने की बात कही। संबोधन के अंत में समारोह में मोजूद सभी आम जन को बिहार राज भवन आने का यह कह कर न्योता दिया कि राजभवन के गेट पर आकर यह बोल दो कि सांवरलाल जी के यहां से आये है। आप लोगो के लिए राज भवन के दरवाजे आधी रात को खोल दिए जाएगें।

समारोह को संबोधित करते हुए राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने कहा कि स्वर्गीय जाट अच्छे शिक्षक , नेता,  मंत्री, विधायक व अच्छे किसान भी थे। मंत्री होते हुए खेती नहीं छोड़ी और गाय का दुध स्वयं निकालते थे। ऐसे सपूत की प्रतिमा अनावरण को प्रतिमा न समझे बल्कि प्रत्येक किसान के बेटे के लिए यह प्रेरणा बननी चाहिए। वसुन्धरा सरकार में राठोड़, जाट, दिगम्बर की तगड़ी जोड़ी थी। जाट व दिगम्बर के बिना विधानसभा अधूरी लगती है।

समारोह में राज्य के केबिनेट मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने अपने राजनैतिक जीवन साथी स्वर्गीय प्रो.जाट के उल्लेखनीय कार्यो का बखान करते हुए कहा कि स्वर्गीय जाट राजस्थान के भागीरथ तो थे ही लेकिन अन्नदाताओं के लिए भी अंतिम समय तक संघर्ष करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की बैठक में किसानों के लिए कर्ज माफी, स्वामिनाथन रिपोर्ट लागू करने, पंजाब का पानी खोलने की मांगे उठाते-उठाते घस खा कर गिर पड़े जो वापस नहीं उठ पाऐ ऐसे धरती पुत्र के सम्मान में जितना भी बोले कम है।

जाट के पुत्र रामस्वरूप लांबा ने अपने पिता के द्वारा किए गए कार्यो का बखान करते हुए आम जनता को उनके पद चिन्हो पर चलने का भरोसा दिलाया। समारोह में सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक ने कहा कि राजस्थान की जनता किसान केसरी स्वर्गीय जाट को हमेशा याद रखेगी। उन्होने मंत्री रहते राजस्थान के विकास में कोई कमी नहीं रखी। अनावरण समारोह को संसदीय सचिव शत्रुघन गोतम, सुरेश रावत, विधायक भागीरथ चौधरी, शंकर सिंह रावत,रामलाल गुर्जर, पूर्व सांसद रासा सिंह रावत,खो-खो संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भंवर सिंह पलाड़ा, भाजपा जिला अध्यक्ष बी.पी.सारस्वत, पूर्व जिला अध्यक्ष नवीन शर्मा, सी.सी.बी अध्यक्ष मदनगोपाल चौधरी, अजमेर डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी, जाट की पुत्री डॉ. सुमन, पुत्र कैलाश लाम्बा, जमनालाल लाम्बा सहित कई वक्ताओं ने संबोधित किया।

समारोह का संचालन भाजपा नेता दिनेश तोतला व हरिराम किवाड़ा ने किया। इससे पूर्व मुख्य अतिथि सहित सभी अतिथियों ने प्रतिमा स्थल जाकर रिमोट द्वारा जाट की आदमकद साढे 6 फुट ऊंची प्रतिमा व शिलालेख पटिटका का अनावरण किया। साथ ही जीवन परिचय की शिलालेख पटिका का भी अनावरण किया।

रैली के रूप में आये लोग
गोपालपुरा में स्वर्गीय जाट की प्रतिमा अनावरण समारोह में लोग अपने नीजी वाहनों से रैली के रूप में नारे लगाते हुए पहुंचे। लोग प्रात: 7 बजे से ही पाण्डाल में पहुंचना शुरू हो गए। प्रात: दस बजे जाट के पुत्र कैलाश लाम्ब ने स्वागत भाषण के साथ समारोह का शुभारम्भ किया।

सैल्फी का रहा जलवा
समारोह में पहुंचे किसान व समर्थको के बीच जाट की प्रतिमा के साथ सैल्फी लेने की होड मची रही। अनावरण के दौरान स्कूल के बाहर आम रास्ते पर समर्थको का हुजुम उमड पड़ा। जाट समर्थक सांवर लाल जाट अमर रहे के नारे लगाते रहे।

छोटा पड़ा पाण्डाल
सभा स्थल के लिए बनाया गया पाण्डाल समर्थको का हुजुम उमड़ने से छोटा पड़ गया। पाण्डाल के अलावा स्कूल परिसर , सिंगावल व भिनाय जाने वाले आम रास्ते व छतो पर बैठे रहे।

सुचारू व्यवस्था से कायल हुए लोग
स्वर्गीय जाट की प्रतिमा अनावरण समारोह में शामिल होने वाले लोगो को लिए आने वाले वाहनो को पार्किगं के लिए प्रशासन ने जोरावरपुरा रोड़, सिंगावल रोड़, भिनाय रोड, एकलसिंहा रोड़ व स्कूल के पीछे करांटी रोड पर पार्किग की माकूल व्यवस्था करने, प्रात: जल्दी आने वाले लोगो के लिए अल्पाहार की व्यवस्था, पुलिस व चिकित्सा दल की मुश्तेदी व समारोह पश्चात महामहिम सहित जन समूह की भोजन की व्यवस्था के लोग कायल रहे। वहीं महामहिम की सुरक्षा व्यवस्था हेतु पुलिस कप्तान राजेश सिंह चौधरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  मीणा, उपखण्ड अधिकारी रमेशचन्द माहेश्वरी, पुलिस उप अधीक्षक शंकर लाल, थानाधिकारी शम्भू सिंह, श्रीनिवास जांगिड़ मय दल बल के मुश्तेद थे।
मोक्षधाम में पगल्या
स्वर्गीय जाट की आदम कद प्रतिमा के साथ साथ मोक्षधाम पर छतरी बना कर पगल्या स्थापित किए गए। वहां भी समर्थको ने माथा टेक कर श्रृद्धांजली अर्पित की।

मांगे रखी
समारोह में नगर पालिका बिजयनगर के पूर्व पार्षद व भाजपा नेता बालचन्द लोढा ने अपने संबोधन में बिहार के महामहिम राज्यपाल सत्यपाल मलिक, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल, पंचायतराज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़, सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक के समक्ष राजस्थान किसान आयोग के भवन का नाम सांवरलाल जाट के नाम रखने, मसूदा व अरांई राजकीय महाविद्यालय एवं भिनाय उच्च माध्यमिक विद्यालय का नाम भी स्वर्गीय जाट के नाम पर रखने की मांग की। जिस पर मंचासीन महामहिम व मंत्रीगण आपस में चर्चा करते नजर आये व आयोजको को भरोसा दिलाया।

ये थे उपस्थित
समारोह में महिला एवमï बाल विकास मंत्री अनिता भदेल,पूर्व विधायक किशनगोपाल कोगटा, गोपाल लाल धोबी, रतनलाल जाट, भाजपा जिला महामंत्री गणपत मुनीम,अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश महामंत्री मुंसिफ अली खान,भाजपा जिला मीडिया प्रमुख रामसुख गुर्जर,महावीर डांगी, भाजपा नेता प्रभू रेलानी, सचिवालय कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष शिवजीराम जाट, पीसांगन प्रधान अशोक सिंह रावत, जिला मंत्री कैलाश गुर्जर, श्रीनगर प्रधान सुनिता रावत,किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष ज्ञानसिंह रावत, पूर्व प्रधान दिलीप पचार,उपजिला प्रमुख टीकम चौधरी, पूर्व उप जिला प्रमुख ताराचन्द रावत, नसीराबाद मण्डल अध्यक्ष मुकेश चौधरी, श्रीनगर मण्डल अध्यक्ष रामपाल गुर्जर, बिजयनगर मण्डल अध्यक्ष आशीष साण्ड, भिनाय मण्डल अध्यक्ष चान्दमल, रामसिंह रावत,भाजपा ईकाई बान्दनवाड़ा अध्यक्ष जयमल रेलानी, बान्दनवाड़ा सरपंच दलजीत रहलानी, पूर्व उप प्रधान ललित लोढा,बड़ली सरपंच हंसराज गुर्जर,सरपंच संघ अध्यक्ष धनराज गुर्जर, करांटी सरपंच ममता बैरवा,पूर्व सरपंच तुलसीराम खींची,रामस्वरूप मेवाड़ा, हरलाल गुर्जर,घीसालाल पटेल, शिवराज वैष्णव,भाजपा नेता सुभाष वर्मा, गणपत सिंह रावत, शिवलाल फामड़ा, महेन्द्र पाटनी,देवेन्द्र शर्मा,के के शर्मा, मांगीलाल मेवाड़ा,सी. एम आचार्य, सुनिता यादव, निर्मला कंवर, राजेन्द्र गुर्जर, राजेन्द्र सिंह रावत, टी आर चौधरी, चन्द्र प्रकाश चौधरी, गिरधारी लाल जाट,भंवर सिंह पीपरोली, चेलाराम सहारण,हरेश मामनानी, पप्पूलाल खटीक,नारायण जोशी, गिरीराज यादव, बालूराम शर्मा, बालचन्द जांगिड़, दाउराम शर्मा, नारायण लाम्बा, सत्यनारायण लाम्ब, डॉ. कैलाश, सुरेश लाम्बा, दिनेश चौधरी, घीसू , कानाराम भीचर, पवन साहू, ललित शर्मा, राकेश पालडेचा,राधेश्याम पोरवाल, हगामीलाल चौधरी,सुरेश पण्डित व महेश कुमार जोशी सहित हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar