बाड़मेर अब तरक्की की राह पर: वसुंधरा

बाड़मेर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि कभी पिछड़े समझे जाने वाले बाड़मेर जैसे जिले आज विकास यात्रा में आगे निकल चुके हैं और अब वह दिन दूर नहीं जब शिक्षक, डॉक्टर, उद्यमी और अन्य लोग बाड़मेर-जैसलमेर जिलों में काम करने के लिए दौड़ेंगे। श्रीमती राजे आज बाड़मेर जिले के गुढामालानी में विभिन्न विकास कार्यों के लोकार्पण, शिलान्यास एवं लाभार्थियों से संवाद कार्यक्रम में बोल रही थीं।

उन्होंने कहा कि इच्छाशक्ति, ईमानदारी से प्रयास, ईश्वर की कृपा, संतों के आशीर्वाद और जन सहयोग से ही यह बदलाव आ रहा है। उन्होंने कहा कि जब मन में इच्छा शक्ति और ईमानदारी से काम करने का संकल्प हो तो संसाधनों की कमी नहीं रहती और जब काम होता हुआ दिखता है तो लोग भी साथ आते हैं। हमने पूरी पारदर्शिता के साथ कुशल प्रबन्ध कर जनता का पैसा जनता के विकास कार्य पर ही खर्च किया है और बिना भेदभाव प्रत्येक जाति को गले लगाया है। राज्य के प्रत्येक व्यक्ति की खुशहाली हमारी जिम्मेदारी है और विकास कार्यों के लिए पैसों की कोई कमी नहीं है।

मुख्यमंत्री राजे ने राज्य में बालिका एवं महिला कल्याण, महिला सुरक्षा, किसान, सैनिक कल्याण, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, बिजली-पानी एवं विकास के अन्य क्षेत्रों में राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी। श्रीमती वसुन्धरा राजे ने गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र में कई विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा-गुढामालानी जल परियोजना में क्षेत्र के 263 गांवों को मीठा पानी देने का काम जारी है। इसमें 115 किमी बड़ी पाइप लाइन के जरिए इन गांवों को पानी मिलेगा जिस पर 100 करोड़ रूपये खर्च किए जा चुके हैं। इसके जरिए प्रतिदिन साढे चार करोड़ लीटर मीठे पानी की आपूर्ति होगी।

श्रीमती राजे ने कहा कि बाड़मेर जिले के पचपदरा में रिफाइनरी पर काम शुरू हो चुका है तथा जल्द ही यहां पेट्रोलियम स्कूल शुरू होगा। जिसमें स्थानीय युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर पेट्रोलियम उद्योग की आवश्यकता के अनुसार कुशलता प्राप्त कर सकेंगे। तब केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु जैसे दूसरे राज्यों से लोगों को इन कम्पनियों को यहां भर्ती के लिए नहीं बुलाना पडेगा और प्रदेश के युवाओं को ही रोजगार मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar