माँ के संस्कारों से ही ध्रुव, प्रहलाद और श्रवण कुमार बने: पृथ्वीसिंह

मसूदा। (खारीतट सन्देश) विद्या भारती संस्थान द्वारा संचालित आदर्श विद्या मन्दिर मसूदा द्वारा तेजाजी का थान मोयणा में मातृ सम्मेलन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में रतनगढ, भैरूखेड़ा, लाणदी एवं मोयणा की माता-बहिनो ने भाग लिया। विश्व हिन्दू परिषद ब्यावर के सहपरियोजना प्रमुख श्री पृथ्वीसिंह कार्यक्रम के बतौर मुख्य वक्ता थे। उपस्थित माताओं को उत्तम संस्कार निर्माण के लिए उपस्थित मातृशक्ति को सम्बोधित करते हुए सिंह ने कहा कि माँ के संस्कारों से ही बालक ध्रुव, प्रहलाद और श्रवण कुमार बनता हैं एक माँ जैसा चाहती है वैसा अपने बालक का चरित्र निर्माण कर सकती हैं।

एक माँ ही थी जिनके दिए संस्कारों से हिरण्यकश्यप जैसे राक्षस का पुत्र भक्त प्रहलाद कहलाया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व सरपंच श्रीमती मंजू सेन ने भी अपने विचार प्रकट किए । अध्यक्षता मोयणा सरपंच सेठी सिंह चौहान ने की। कार्यक्रम में विद्यालय के भैया-बहिनों ने माँ की ममता पर मनमोहक गीत एवं लघु नाटिका की प्रस्तुतिया दी। मंच संचालन बहिन शिल्पा और भैया कुलदीप शर्मा कक्षा 8 ने किया। कार्यक्रम में अध्यापक सुरेश कुमार एवं मोयणा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के शारीरिक शिक्षक एवं ग्रामीण विद्यालय परिवार के आचार्य दीदी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar