सड़क निर्माण में पौ-बारह!

घटिया निर्माण के कारण सड़क से उखड़ रही गिट्टी
बिजयनगर। (खारीतट सन्देश) बिजयनगर नगर पालिका द्वारा बनवाई गई सड़क महज कुछ दिनों में ही उखडऩे लगी है। सड़क के किनारे से गिट्टियां उखडऩे लगी है। निर्माण के दौरान लोगों की शिकायत अनसुनी कर दी गई। अब एक बार फिर लोगों ने एक सुर में जांच की मांग करने लगे हैं। ठेकेदार कह रहा है कि मापदंड के अनुसार सड़क बनाई गई, अधिकारी कहते हैं, जांच के बाद ही भुगतान होगा…। चौसर के खेल में इसे ही पौ-बारह कहते हैं…

महावीर बाजार, स्टेशन बालाजी मंदिर रोड निर्माण की जांच की मांग
बिजयनगर नगर पालिका के कांग्रेस पार्षदों ने पिछले दिनों महावीर बाजार में बनाई गई नई सड़क पर आपत्ति जताते हुए सड़क निर्माण की जांच की मांग की है। पालिका अध्यक्ष और अधिशासी अधिकारी को प्रेषित पत्र में पार्षद विनय भंडारी, राजेश मुणोत, संजय शर्मा, नौशाद मोहम्मद, भवानी शंकर राव, कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष ज्ञान चंद चौधरी, पूर्व पालिकाध्यक्ष नेमीचंद भंडारी इत्यादि ने महावीर बाजार में पालिका द्वारा निर्मित कराये गए रोड की गुणवत्ता को घटिया बताते हुए एवं स्टेशन से स्टेशन बालाजी मंदिर तक निर्मित कराई गई सड़क की भी जांच कराने की मांग की है।

नहीं दिखती पेवर सड़क
नई सड़क बनाने से पहले पुरानी सड़क की खुदाई और सफाई होनी चाहिए थी जो कि नहीं की गई। सबसे बड़ी बात यह कि पेवर सड़क बनाने का वर्कआर्डर था लेकिन पेवर सड़क नहीं दिखती। यह सड़क शहर की मुख्य सड़क है, इसे अच्छी बनानी चाहिए थी। कुल मिलाकर आधे माल की पूरी कीमत वसूलना जैसा है। हालांकि जांच की मांग उठी है लेकिन वो भी पालिका प्रशासन ठंडे बस्ते में डाल देगा। मुझे नहीं लगता कि इस सड़क में और कुछ होगा।


कृष्णगोपाल नवाल

आंखें मूंद कर पालिका ने कराया है सड़क का निर्माण
महावीर बाजार का रोड सही नहीं बना जबकि महावीर बाजार शहर का मुख्य मार्ग है। बनाई गई सड़क का लेवल सही नहीं है, कहीं कम, कहीं ज्यादा डामर व कंकरीट लगाई हुई है। ऐसा रोड पेवर रोड थोड़े ना होता है। पालिका प्रशासन ने आंखें मूंद कर सड़क का निर्माण कराया है। सड़क निर्माण के वक्त किसी भी प्रकार से गुणवत्ता की जांच नहीं की गई। लोगों द्वारा जांच की मांग करने से पहले ही पालिका को गुणवत्ता की जांच करवानी चाहिए। सड़क को देखकर ऐसा लगता है जैसे की सड़क का पेचवर्क हुआ हो।

संजय शर्मा, पार्षद वार्ड 18

कमियों के पीछे पालिका की लापरवाही
20 वर्ष पहले (जब किशनगोपाल कोगटा विधायक थे) तब यह सड़क बनी थी, तब इस सड़क की ३ वर्ष की गारंटी थी लेकिन इतने वर्ष बाद भी यह सड़क चली। इसे तो लोगों ने रोड कटिंग करके बदहाल अवस्था में किया। अभी कुछ दिन पूर्व बनी सड़क मुझे नहीं लगता कि छह महीने भी चल पाएगी। इसकी पालिका को जांच करवानी चाहिए। वहीं दूसरी ओर सड़क निर्माण को लेकर एक जी. शड्यूल होता है वह भी नही है। जब जी. शड्यूल नहीं लगा तो उसके मापदण्डों को क्या अपनाया होगा। इन सभी कमियों के पीछे पालिका प्रशासन की लापरवाही है। साथ ही मैंने महावीर बाजार के व्यापारियों को बोला सड़क में लगने वाले माल की गुणवत्ता जांचों लेकिन उस समय किसी ने शायद परवाह नही की। सड़क का निर्माण कार्य रात्रि समय में किया गया।

दिनेश कोगटा, प्रांतीय अध्यक्ष-भारत विकास परिषद

गुणवत्ता की जांच नहीं की गई
सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल हुआ है। सफाई कर्मचारी जब सफाई करते है सड़क की तो 30-40 किलो कंकरीट निकल रही हैं। पूरे महावीर बाजार का व्यापारी वर्ग निर्माण कार्य की जांच की मांग कर रहा है। सड़क निर्माण के समय गुणवत्ता की जांच होनी चाहिए लेकिन नहीं की गई।


राजेश मुणोत, पार्षद वार्ड 17

सही मापदण्डों से नहीं बनी सड़क
सड़क सही मापदण्डों से नहीं बनी। सड़क का वर्कआर्डर पेवर सड़क का था लेकिन पेवर सड़क तो बनी नहीं। यदि सही मापदण्डों से सड़क बनाते तो लोग गुणवत्ता की जांच की मांग क्यों करते?

सहदेवसिंह कुशवाह, उपाध्यक्ष, नगरपालिका बिजयनगर

जवाब तो देना ही होगा
सड़क की गुणवत्ता बिल्कुल खराब है। मेरे साथ सभी व्यापारी वर्ग सड़क निर्माण के कार्य से संतुष्ट नहीं हैं। जब सड़क बन रही थी तब जेईएन साहब को फोन पर शिकायत की, लेकिन आगे से जवाब मिला कि जांच होगी। जब वर्कआर्डर पेवर सड़क का था तो पेवर सड़क जैसी सड़क क्यों नहीं बनी, इसका जवाब तो देना ही होगा।

विनय भण्डारी, पार्षद वार्ड 16

एक ही बारिश में खराब हो जाएगी सड़क
स्टेशन से लेकर 27 मील तक के मार्ग में महावीर बाजार की सड़क मुख्य सड़क है। यह सड़क आज के 20 वर्ष पूर्व बनी थी यदि इस सड़क के निर्माण में उच्च गुणवत्ता होती तो कुछ बात होती। इस प्रकार की सड़क तो कुछ दिन ही टिक पाएगी। एक ही बारिश में सड़क खराब हो जाएगी।

जसवंत मेहरा, ऑटो चालक, बिजयनगर

जांच के बाद ही होगा भुगतान
जिस आधार पर वर्क आर्डर दिया गया उसी के अनुरूप सड़क निर्माण कार्य हुआ या नहीं हुआ इसकी जांच वरिष्ठ व कनिष्ठ अभियंता करेंगे। उनकी रिपार्ट के बाद ही ठेकेदार को भुगतान
किया जाएगा।


सचिन सांखला, अध्यक्ष, नगरपालिका बिजयनगर

जारी किया है नोटिस
महावीर बाजार में पार्किंग एरिया, पॉल वगैरह की समस्या है, इस वजह से निर्माण के दौरान रोलर ढ़ंग से नहीं चल पाया होगा। दूसरी ओर हमने ठेकेदार को नोटिस जारी किया है। पीडब्ल्यूडी और लेबोरेट्री जांच रिपोर्ट देखे बगैर ठेकेदार को भुगतान नहीं किया जाएगा।
कमलेश मीणा, अधिशासी अधिकारी

मापदंडों के अनुसार बनाई है सड़क
हमने मापदण्डों के अनुसार ही सड़क बनाई है। सड़क के दोनों ओर मोटरसाईकिलें खड़ी रहती हंै वो अब धीरे-धीरे दबेगी, जबकि सड़क का सेंटर भाग तो सड़क बनते ही ट्रैफिक शुरू होने से दब गई थी। सड़क मापदण्डों पर खरी है। नगर पालिका से लेटर मिला है, अब सड़क की सीलकोटिंग की जाएगी जबकि सील कोट वर्क आर्डर में नहीं था।
देवेन्द्रसिंह, ठेकेदार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar