सरकार फोन देने के नाम पर कर रही हैं घोटाला: खाचरियावास

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रताप सिंह खाचरियावास ने राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर रिलायंस जियो कंपनी के साथ मिलकर भामाशाह डिजिटल योजना के तहत फोन देने के नाम पर करोड़ों रूपयों का घोटला करने का आरोप लगाया हैै। श्री खाचरियावास ने आज अपने बयान में कहा कि इस योजना के तहत राज्य सरकार ने कहा था कि एक करोड़ 60 लोगों को सरकार की योजनाओं से जोड़ने के लिये एक हजार रूपये प्रति व्यक्ति बांटेगी। इस योजना में जिन लोगों के पास पहले से स्मार्ट फोन है, उन्हें फोन खरीदे बिना राज्य सरकार सरकारी ऐप डाउनलोड करने के बाद एक हजार रूपये देगी।

लेकिन भाजपा के सभी विधायक, मंत्री और सरकार के अधिकारी लोगों को एकत्रित करके इस योजना में नहीं आने वाले लोगों तक को 1100 रूपये लेकर उन्हें फोन बेच रहे हैं। कई जगह तो राज्य सरकार के अधिकारियों ने जियो भामाशाह योजना के नाम से आदेश जारी करके जियो कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर लोगों से 1100 रूपये प्राप्त करके उन्हें फोन बांट दिये जो बड़ा घोटाला है। इस योजना के तहत जरूरी नहीं है कि जियो कंपनी का फोन खरीदने के लिये सरकार लोगों को मजबूर करें। जिसके पास पहले से फोन हैं उसे 1000 रूपये बिना फोन खरीदे उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी है लेकिन अब तक राजस्थान में जियो कंपनी के लगभग सात लाख फोन सरकार की मिलीभगत से बेचे जा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार रिलायंस जियो कंपनी के फोन बिकवाने के लिये यह योजना लेकर आई है। इस योजना का बड़ा लाभ सरकार में बैठे नेताओं, अधिकारियों और जियो कंपनी को मिल रहा है। सरकार के विधायक और मंत्री खुले में जियो कंपनी के फोन बेचकर इस घोटाले को अंजाम दे रहे हैं।

श्री खाचरियावास ने कहा कि लाखों लोगों को तो यही पता नहीं है भामाशाह डिजिटल योजना का लाभ किसे मिलेगा, जिन लोगों को इस योजना का लाभ मिलने वाला नहीं है वे भी जब वहां एकत्रित हो जाते हैं तो जियो कंपनी के प्रतिनिधियों को 1100 रूपये दिलाकर लोगों से यह कहा जाता है कि जब आप इस फोन में सरकारी ऐप भामाशाह का डाउनलोड करेगें तो आपके खाते में 1000 रूपये स्वयं ही आ जायेंगे, 500 रूपये प्रथम किश्त में और 500 रूपये दूसरी किश्त में आयेंगे। लोगों को सरकारी अधिकारी यह समझाते हैं कि 1000 रूपये सरकार दे रही है आपके तो 100 रूपये लग रहे हैं यह कहकर लोगों से 1100 रूपये जियो कंपनी के लोग पहले ही वसूल कर लेते हैं।

उन्होंने कहा कि जनता को लाभ पहुंचाने के बहाने से जियो कंपनी के साथ मिलकर राज्य सरकार ने जो घोटाला किया है, इससे सरकारी खजाने पर लगभग एक हजार करोड़ का भार पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar