अमित शाह राजस्थान के तीन दिवसीय दौरे पर

जयपुर। राजस्थान में इस साल के आखिर तक विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसके मद्देनजर अमित शाह ने प्रदेश के दौरे बढ़ा दिए हैं। रविवार को उन्होंने पाली में ओबीसी सम्मेलन को संबोधित किया और एनआरसी का मुद्दा उठाने के साथ-साथ ये भी कहा कि बीजेपी समाज के सभी वर्गों की पार्टी है। अमित शाह तीन दिन प्रदेश में रहेंगे। इस दौरान वे जोधपुर,भीलवाड़ा, नागौर और उदयपुर जिलों में विभिन्न सम्मेलनों को संबोधित करेंगे और पार्टी की चुनाव संबंधी तैयारियों का फीडबैक लेंगे।

अमित शाह 16 सितंबर को पाली में शक्ति केंद्र सम्मेलन और संभाग स्तरीय अन्य पिछड़ा वर्ग सम्मेलन को संबोधित किया। वहीं, आज 17 सितंबर को वह भीलवाड़ा में रहेंगे और पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार 18 सितंबर को शाह नागौर और उदयपुर में शक्ति केंद्र सम्मेलनों को संबोधित करेंगे। वह नगर निगम, नगर पालिका और बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र देंगे।

इसके बाद प्रबुद्ध जनों का सम्मेलन होगा और शाह बीजेपी के दूसरे संगठनों को भी संबोधित करेंगे। जोधपुर के बाद अमित शाह उदयपुर जाएंगे, जहां एक स्कूल में कार्यकर्ता सम्मेलन रखा गया है। यहां वह मेवाड़ संभाग के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। शाह आज 17 सितंबर को चार्टर्ड प्लेन से उदयपुर एयरपोर्ट पर उतरेंगे। उदयपुर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद दोपहर 2 बजे हेलिकॉप्टर से भीलवाड़ा पहुंचेंगे। जहां पर पुलिस लाइन मैदान में उनका संबोधन होगा। वह भी अग्रवाल उत्सव भवन के सामने बूथ एवं शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

शाह उदयपुर में शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं और अनुसूचित जाति, जनजाति के पार्टी कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे। शाह के सभी संभाग के दौरों में सुनिश्चित किया जा रहा है कि बीजेपी से जुड़े सभी संगठन को वह संबोधित करें। शाह के इस दौरे में भी शुरुआती दो दिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उनके साथ नहीं होंगी। राजनीतिक तौर पर अमित शाह का यह दौरा राजस्थान के लिए काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि इस दौरे में शाह जोधपुर जा रहे हैं, जो कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गढ़ है। राजे हाल में राजस्थान गौरव यात्रा के तहत जोधपुर गई थीं, वहीं पीपाड़ सिटी में उनके काफिले पर पथराव जैसी घटना हुई थी। इसके साथ ही जोधपुर संभाग में भाजपा के प्रति राजपूत समुदाय का कड़ा विरोध सामने आ रहा है।

राजस्थान में तूफानी चुनौवी दौरे पर पहुंचे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पाली में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी कोई एक जाति और किसी एक समाज की पार्टी नहीं है, बल्कि सबकी पार्टी है। शाह ने कहा कि हमारे नेता नरेंद्र मोदी ने भारत में विकास का मंत्र ‘सबका साथ सबका विकास’ बताया, विकास में सबकी भागीदारी होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि बीजेपी माली, गुर्जर, जाट, और अन्य जाति, अगड़े, पिछड़े, दलित और आदिवासी सभी लोगों की पार्टी है। हालांकि, इस दौरान उन्होंने पिछड़े समाज के लिए मोदी सरकार के दौरान क्या क्या किया गया, ये भी बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पिछड़े समाज को कभी न्याय देने का काम नहीं किया जबकि मोदी सरकार ने पिछड़े समाज के लोगों के लिए बहुत कार्य किए हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी घुसपैठियों को देश में रखने का काम करती है, जबकि हमारा संकल्प हर घुसपैठिए को देश से निकालने का होता है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राजस्थान में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी के परनाना, दादी, पिताजी और मां ने देश में 70 वर्षों तक शासन किया, लेकिन गरीबों को उनका हक नहीं दिया। उनके मुताबिक, कांग्रेस पार्टी घुसपैठियों को देश में रखने का काम करती है, जबकि हमारा संकल्प हर घुसपैठिए को देश से निकालने का होता है।

पूर्व रक्षा मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र विधायक मानवेन्द्र सिंह 22 सितंबर को बाड़मेर में ही स्वाभिमान रैली करने जा रहे हैं। इन स्थितियों को देखते हुए जोधपुर में शाह के इस दौरे से भाजपा को काफी उम्मीदें हैं। जोधपुर संभाग का एक हिस्सा पाली, जालौर, सिरोही का भी है और इसे साधने के लिए शाह पाली जिले में भी कार्यक्रम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar