मौसमी बीमारियों का प्रकोप

समस्या : बच्चों से बुजुर्गों तक में खांसी, जुकाम व बुखार की शिकायत आम
बिजयनगर। क्षेत्र में मौसम के बदलते मिजाज का प्रतिकूल असर अब हर उम्र के लोगों की सेहत पर पडऩे लगा है। इन दिनों चिकित्सालयों में सुबह-शाम लगने वाली कतारें इस बात के गवाह हैं। सेहत का ध्यान तो खुद ही रखना पड़ेगा, फिर बच्चों की देखभाल तो अभिभावक ही करेंगे।

मौसम में परिवर्तन के साथ ही पिछले दो-तीन सप्ताह से शहर में मौसमी बीमारियों ने दस्तक दे दी है। अब तक हजारों लोग इन बीमारियों के चपेट में आ चुके हैं। राजकीय चिकित्सालय के आउटडोर में प्रतिदिन औसतन 500 सौ से अधिक रोगियों की भीड़ उमड़ रही है। इनमें से अधिकांश को सर्दी, जुकाम, खांसी व बुखार की शिकायत है। हालात यह है कि आउटडोर पर्ची के लिए अस्पताल में सुबह-शाम मरीजों की लम्बी-लम्बी कतारें लग रही हैं।

इन दिनों मौसम परिवर्तन के कारण तापमान में गिरावट आ गई है तथा सुबह व शाम के समय मौसम में ठंडक रहने लगी है। इसके बावजूद लोग रात को सोते समय पंखे की हवा का लुत्फ उठाने से परहेज नहीं करते। वहीं कई लोग कोल्ड ड्रिंक व आईसक्रीम का इस्तेमाल करने के कारण मौसमी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। इसके चलते लोगो को सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार व बदन दर्द की शिकायत हो रही है। रोग की चपेट में मासूम बच्चे जल्दी आ रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रदीप गर्ग के कक्ष में महिलाओं व बच्चों की भीड़ लगी रहती है।

अस्पताल के आउटडोर में जहां एक ओर मरीजों की भीड़ उमड़ रही है। वहीं वही चिकित्सकों के पद रिक्त होने के कारण यहां नियुक्त चिकित्सकों पर काम का भार बढ़ गया है। अस्पताल में चिकित्सक को दिखाने आने वाले मरीजों को भीड़ के कारण देर तक अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है।
यह है बचाव
चिकित्सकों के मुताबिक मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए लोगों को चाहिए कि वे रात के समय पंखे, कूलर व एसी का उपयोग न करें। साथ ही अपने आस-पास के वातावरण में मच्छरों को न पनपने दें। ठण्डे खाद्य पदार्थ जैसे आइसक्रीम व कोल्ड ड्रिंक आदि का सेवन कतई नहीं करें। जुकाम पीडि़त मरीजों से निर्धारित दूरी बनाए रखें ताकि संक्रमण न फैले, खांसी आने पर मुंह पर कपड़ा या रूमाल रखकर खांसें।
80 फीसदी बच्चे
इन दिनों अस्पताल में आने वाले शिशु रोगियों में से 80 फीसदी बच्चे खांसी, जुकाम व बुखार की शिकायत से पीडि़त हैं। परिजनों को चाहिए कि वो बच्चों के आस-पास मक्खी व मच्छरों को पनपने न दें। रात में पंखे व कूलर का इस्तेमाल नहीं करें।
डॉ. प्रदीप गर्ग, शिशु रोग विशेषज्ञ, राज. चिकित्सालय, बिजयनगर
घर को रखें साफ-सुथरा
अस्पताल में इन दिनों आने वाले मरीजों में खांसी, जुकाम व सिर दर्द पीडि़त रोगियों की तादाद अधिक है। लोगों को चाहिए कि परिवार में यदि किसी व्यक्ति को जुकाम की शिकायत हो तो उससे थोड़ा दूरी बनाकर रखें। घर व आस-पास में मक्खी व मच्छरों का प्रकोप न फैलने दें तथा घर को साफ-सुथरा रखें।

डॉ. गोपाललाल जोशी, वरिष्ठ फिजिशियन एवं चिकित्सालय प्रभारी, राजकीय चिकित्सालय, बिजयनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar