महिलाओं को स्मार्ट फोन देने से कांग्रेस में खलबली: वसुंधरा

अलवर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कांग्रेस पर महिलाओं का विरोध करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य सरकार की एक करोड़ महिलाओं को भामाशाह डिजिटल योजना के तहत स्मार्ट फोन देने से कांग्रेस में खलबली मच गई है। श्रीमती राजे आज अलवर जिले के रामगढ़ एवं तिजारा कस्बों में गौरव यात्रा के तहत आयोजित जनसभाओं में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार महिलाओं को सशक्त करना चाहती हैं उन्हें मोबाइल के माध्यम से सरकारी योजना की जानकारी देना एवं देश-दुनिया से जोड़ना चाहती हैं और कांग्रेस इसका विरोध कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना में महिलाएं किसी भी कम्पनी का फोन लेने को स्वतंत्र हैं।

उन्होंने कहा कि भामाशाह योजना देश की ऐसी पहली योजना है जिसमें महिला को परिवार का मुखिया बनाया गया है। यह योजना भ्रष्टाचार को रोकने में शत-प्रतिशत कारगर साबित हुई है। इस योजना को कांग्रेस बंद करना चाहती है। कांग्रेस कहती है हम सरकार में आये तो भामाशाह कार्ड फाड़ देंगे, उसके टुकड़े-टुकड़े कर देंगे ताकि उनकी सरकार बनने पर वह भ्रष्टाचार कर सके और महिलाओं को आगे आने से रोक सके। लेकिन कांग्रेस का यह सपना पूरा नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि गौरव यात्रा को मिल रहे अपार समर्थन से कांग्रेस बौखला गई है। इसलिए वह इस यात्रा को रोकने का प्रयास कर रही है। लेकिन कांग्रेस के मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किसानों, महिलाओं और किसी भी वर्ग के लिए विधानसभा में एक शब्द नहीं बोला। आज जब चुनाव आ रहे हैं तो अचानक निकलकर बाहर आये और जनता के हितैषी बनने का स्वांग करने लगे। यदि ये 50 साल के अपनी पार्टी के शासन में सभी लोगों का उत्थान करते तो आज यह स्थिति नहीं होती। उन्होंने कहा कि हमने इन पांच सालों में वो कर दिखाया जो कांग्रेस 50 साल में नहीं कर पाई। उन्होंने कहा कि हमने इस दौरान 50 हजार रूपए तक का किसानों का कर्जा माफ किया, पेट्रोल-डीजल में चार प्रतिशत वेट कम कर इसमें करीब ढ़ाई रूपये प्रति लीटर दाम कम किये।

श्रीमती राजे ने कहा कि उनकी सरकार ने महिलाओं के लिए जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक ऐसी योजनाएं बनाई है जिससे उन्हें किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि राजश्री योजना में बेटी को लक्ष्मी का रूप मानकर जन्म से लेकर लगातार सरकारी स्कूल में 12वीं कक्षा पास करने तक उसे 50 हजार रूपये दिये जायेंगे। इसके अलावा साईकिल, स्कूटी, लेपटॉप, छात्रवृत्ति, स्कूल दूर तो आने-जाने के लिए वाउचर, श्रमिक कार्डधारी है तो विवाह के लिए 55 हजार रूपये देकर महिला को सशक्त किया जा रहा है। महिला परित्यक्ता, विधवा, दिव्यांग और वृद्धा है तो उसे पेंशन दी जा रही है। पालनहार योजना में बच्चों को पालने के लिए एक हजार रूपये तक प्रति बच्चा हर माह दिये जा रहे हैं।

श्रीमती राजे ने कहा कि हमने किसानों की बिजली के दाम नहीं बढ़ाए। घरेलू बिजली पूरे प्रदेश में 20 घंटे दी जा रही है। पांच सौ रूपये में घरेलू कनेक्शन दिये जा रहे हैं। मार्च 2019 तक प्रदेश में ऐसा कोई घर नहीं बचेगा जहां बिजली से उजाला न होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अलवर जिले के लोगों की ईआरसीपी से प्यास बुझाई जायेगी। इसके लिए 37 हजार करोड़ की योजना तैयार कर ली गई है। इस योजना के अमल में आ जाने पर अलवर सहित 13 जिलों में पेयजल एवं सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

उन्होंने एनसीआरपीबी से 1290 करोड़ का लोन लेकर हमने अलवर जिले में 932 करोड़ से 630 किलोमीटर की 38 सड़कों का विकास कार्य शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि 358 करोड़ से 7 पेयजल योजनाओं अलवर, राजगढ़, तिजारा, बहरोड़, भिवाडी, किशनगढ़बास, खैरथल का भी काम शुरू किया गया है। श्रीमती राजे ने कहा कि आगामी दिसम्बर तक 470 करोड़ रूपये व्यय कर 450 किमी सड़कों का विकास तथा 240 करोड़ व्यय कर पांच पेयजल योजनाओं का काम पूरा कर लिया जायेगा। और जो काम बाकी रहेंगे वे आगामी मार्च तक पूरे हो जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar