राफेल पर बढ़ी तकरार, भाजपा के निशाने पर कांग्रेस

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर राहुल गांधी की ओर से लगातार सरकार पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों से हमलावर भाजपा ने राहुल गांधी पर झूठ की राजनीति करने का आरोप लगाया है। इस सौदे में भ्रष्टाचार को लेकर राहुल की ओर से लगाए जा रहे आठ आरोपों को बिंदुवार झूठ ठहराते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि राहुल और कांग्रेस की पोल खुल चुकी है। उन्होंने कहा कि राहुल के पास राजनीति करने के लिए मुद्दों का अभाव है इसीलिए वो लगातार एक ही झूठ बोले जा रहे है।

कांग्रेस ने राफेल को सबसे बड़ा मुद्दा बनाया है। यही कारण है कि जब राफेल की बात आती है तो राहुल खुद सामने आते हैं। ऐसे में भाजपा ने अब तक राहुल की ओर से लगाए गए आरोपों को ही सामने रखकर यह स्पष्ट करने की कोशिश की है लगातार झूठ बोला जा रहा है। एक दिन पहले ही राहुल ने दासौ के एक अधिकारी के बयान को लेकर सरकार पर हमला किया था और आरोप लगाया था कि सरकार के प्रभाव में ही रिलायंस को आफसेट दिया गया था। गोयल ने कहा कि दासौ के सीईओ ने ही इस आरोप को खारिज कर दिया है। गोयल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को भी राहुल तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहे हैं।

सच्चाई यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने भी संवेदनशीलता को देखते हुए राफेल की कीमत पर कोई विचार करने से मना कर दिया। प्रक्रिया की जानकारी मांगी है और वह दिया जाएगा। लेकिन राहुल रक्षा को भी नजरअंदाज करते हुए कीमत का सवाल उठा रहे हैं। राहुल ने राफेल सौदे पर सवाल उठाने वाले अधिकारी को दंडित करने का भी आरोप लगाया था, जबकि वह अधिकारी एक प्रशिक्षण में हिस्सा लेने केलिए गया हुआ था। गोयल ने कहा कि राहुल और कांग्रेस की हताशा उस वक्त तो सारी सीमाएं तोड़ गई जब फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति को भी इसमें शामिल कर लिया गया और उनकी ओर से भारत के प्रधानमंत्री को चोर कहने की बात की गई।

मैक्रां की ओर से पहले भी आफसेट को लेकर जो बातें आई थीं उसे फ्रांस सरकार और खुद दासौ ने खारिज कर दिया है। गोयल ने राहुल के ज्ञान पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हें यह भी पता नहीं है कि राफेल की खरीद को लेकर सीक्रेसी एग्रीमेंट हुआ था और वह भी कांग्रेस सरकार के काल में ही। यही अज्ञानता है जिसके कारण वह एक सामान्य राफेल और सभी युद्धक साजोसामान के साथ लैस राफेल की कीमत की तुलना कर रहे हैं। यह भी आरोप लगा रहे हैं कि सरकार की रक्षा संबंधी कैबिनेट कमेटी तक को समझौते की जानकारी नहीं थी।

गोयल ने कहा कि बिंदुवार राहुल का झूठ सामने आ गया है। लेकिन वह बेशर्मी के साथ राष्ट्रीय हित को ताक पर रखते हुए झूठ की राजनीति मे जुटे हैं। सच्चाई यह है कि राहुल को कई सवालों के जवाब देने हैं। उनके परिवार से जुड़े लोगों की ओर से विभिन्न रक्षा सौदों में की गई दलाली का जवाब देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar