भारत इजरायल से खरीदेगा मिसाइल डिफेंस सिस्टम

यरुशलम। खुद को सुरक्षित करने और दुश्मन की चुनौती को आकाश में ही नेस्तनाबूद करने के लिए भारत ने अब इजरायल के साथ बड़ा रक्षा समझौता किया है। इस सौदे में भारत बराक 8 एयर एंड मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदेगा। यह सौदा 777 मिलियन डॉलर (करीब 5,700 करोड़ रुपये) का होगा। इस डिफेंस सिस्टम को तैयार करने में भारत ने भी अहम भूमिका निभाई है। इसी महीने रूस के साथ हुए पांच अरब डॉलर के एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम खरीद सौदे के बाद भारत की यह दूसरी बड़ी डील है।

ताजा सौदे से जाहिर तौर चीन और पाकिस्तान की ओर से पैदा चुनौती से बेहतर तरीके से निपटने में मदद मिलेगी और देश ज्यादा सुरक्षित होगा। इजरायल से खरीदा जाने वाला सतह से आकाश में मार करके दुश्मन की हमलावर मिसाइलों को रास्ते में ही नष्ट कर देगा। यह सिस्टम वस्तुतः नौसेना के सात हमलावर जहाजों की सुरक्षा के लिए लिया जा रहा है। इजरायल की नौसेना इसका इस्तेमाल कर रही है। वैसे इस डिफेंस सिस्टम का इस्तेमाल वायुसेना और थल सेना भी कर सकते हैं। डिफेंस सिस्टम को बनाने वाली कंपनी इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आइएआइ) ने कहा है कि भारत के साथ मिलकर तैयार किए गए बराक 8 सिस्टम सौदे से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत हुए हैं। दोनों देशों का रक्षा व्यापार अब बढ़कर छह अरब डॉलर (करीब 44 हजार करोड़ रुपये) से ज्यादा का हो गया है।

बराक 8 एयर डिफेंस सिस्टम खासतौर पर समुद्री क्षेत्र की सुरक्षा के लिए तैयार किया गया है। दुश्मन के हवाई, समुद्री और जमीनी हमलों से बचाव करते हुए उस पर जवाबी हमला करने के लिए इस सिस्टम का बखूबी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह सिस्टम अत्याधुनिक तकनीक से लैस है। इसमें डिजिटल रडार सिस्टम, कमांड एंड कंट्रोल, लांचर, इंटरसेप्टर, अत्याधुनिक रेडियो फ्रिक्वेंसी, बड़े स्तर की डाटा लिंक कनेक्टिविटी की सुविधा है। सिस्टम के रडार मिसाइल ही नहीं हर तरह के विमान, हेलीकॉप्टर, ड्रोन और अन्य उड़नशील उपकरणों को पकड़ने में सक्षम हैं। ये एक साथ दुश्मन के कई लक्ष्यों पर हमला भी कर सकते हैं। यह सिस्टम सभी मौसम में रात और दिन में समान रूप से कार्य करने में सक्षम है।

बराक 8 एयर डिफेंस सिस्टम को आइएआइ, भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ), इजरायल एडमिनिस्ट्रेशन फॉर द डेवलपमेंट ऑफ वेपंस एंड टेक्नोलॉजिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर, एल्टा सिस्टम्स, इजरायली कंपनी रफाएल और कुछ अन्य भारतीय कंपनियों के सहयोग से बनाया गया है। ताजा सौदे के लिए आईएआई और भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीइएल) मिलकर कार्य करेंगे। आईएआई के सीईओ निरमोड शेफर ने सौदे पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि भारत के साथ मिलकर हम काफी वर्षों से कार्य कर रहे हैं। यह सिस्टम इजरायल और भारत के प्रगाढ़ तकनीक सहयोग का उदाहरण है। हम भारत में जाकर उत्पादन करने के विकल्प पर भी गंभीरता से विचार कर रहे हैं। इजरायल के रक्षा मंत्री एविग्डोर लिबरमैन ने भी सौदे पर खुशी जाहिर की है और आइएआइ को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar