मातमी माहौल में निकाला मोहर्रम का जलसा

बिजयनगर। मुस्लिम समाज की ओर से चालीसा मोहर्रम का जलसा ढ़ोल ताशों की मातमी धुन के बीच निकाला गया। इस दौरान युवाओं ने हाईदौस खेलते हुए हैरतअंगेज कारनामे प्रस्तुत किए। चालीसे का मोहर्रम का जलसा राजनगर स्थित मदरसा से प्रारम्भ होकर निर्धारित मार्ग रेल्वे फाटक, प्राईवेट बस स्टेण्ड, चन्दा कॉलोनी, कृषि उपज मंडी रोड़, पीपली चौराहा, महावीर बाजार, रेल्वे स्टेशन होता हुआ राजनगर स्थित मदरसा पहुँचा। जलसे में मुस्लिम समाज के लोग ढ़ोल-ताशों की धुन के बीच मातमी माहौल में तलवारों लाठियों व अन्य शस्त्रों से हाईदौस खेलते हुए हैरतअंगेज कारनामे दिखाते हुए तथा हुसैन की याद में नारे लगाते हुए चल रहे थे।

जलसे के दौरान रेल्वे स्टेशन के सामने मुस्लिम समाज की ओर से दस्तारबंदी कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें नगर विकास समिति के अध्यक्ष श्याम नागौरी, महामंत्री चतरसिंह पीपाड़ा, पार्षद संजय कुमावत, नौशाद मोहम्मद, भवानीशंकर राव, राजेन्द्र पामेचा, गोविन्द श्यामनानी, अजमेरी कव्वाल शकील मोहम्मद, बाबा मोहम्मद मुत्तकीम सहित अन्य जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों का समाज के सदर मोहम्मद युनूस इंतजामिया कमेटी अध्यक्ष अब्दुल शकूर, मास्टर अख्त्यार अली, मोहम्मद दाउद कुरैशी, असलम बेग, उस्मान खान, अछबुल अजीज कुरैशी, सलाम न्यारगर, शरीन रंगरेज, मुमताज खान, उजीज उस्ताद, सद्दीक शाह, इलियास मोहम्मद, रशीद भाई, चान्द मोहम्मद आदि ने माला पहनाकर व साफा बंधवाकर दस्तारबंदी की।

जलसे की समाप्ति के पश्चात् ताजिए को राजनगर स्थित कर्बला में सैराब किया गया। जलसे के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमन मीणा, नसीराबाद वृत्ताधिकारी पर्वतसिंह, बिजयनगर तहसीलदार पभात त्रिपाठी, थाना प्रभारी भवानीसिंह मय जाप्ते मौजूद रहे। इससे पूर्व रात्रि में चालीसे के मोहर्रम का जलसा ढ़ोल ताशों की मातमी धुनों के बीच निकाला गया। जलसे के दौरान नगर विकास समिति के अध्यक्ष नागौरी ने टांक परिवार व कुमावत परिवार की ओर से जलसे में शामिल मुस्लिम समाज के लोगों को शीतल पेय पिलाकर व मखाणा व रेवड़ी का प्रसाद वितरित कर साम्प्रदायिक सौहार्द कर मिशाल पेश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar