जीआरपी की सख्ती से बदला नजारा

बिजयनगर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी की सख्ती से नजारा बदलने लगा है। स्टेशन परिसर के बाहर खड़े रहने वाले बेतरतीब वाहन अब कतारबद्ध दिखने लगे हैं। इस बदलाव से स्टेशन परिसर और यात्रियों को काफी सुकून है। स्टेशन परिसर में जीआरपी की सख्ती की सभी सराहना कर रहे हैं। स्टेशन परिसर में सिगरेट के छल्ले उड़ाने वाले समाजकंटकों पर भी सख्ती का असर दिखने लगा है। एक खास रिपोर्ट…

बिजयनगर। स्थानीय रेलवे स्टेशन परिसर में बेरोकटोक घूमने, गंदगी करने व बेतरतीब तरीके से नो पार्किंग जोन में वाहन खड़ा करने वालों के खिलाफ राजकीय रेलवे पुलिस ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। पुलिस की सख्ती से अनजान लोगों से रेलवे पुलिस अब तक हजारों का जुर्माना वसूल कर भविष्य में गलती की पुनरावृति नहीं करने की चेतावनी दे रही है।

राजकीय रेलवे पुलिस चौकी नसीराबाद के चौकी इंचार्ज दिनेशचन्द्र जोशी के नेतृत्व में जीआरपी के जवान स्टेशन पर अब सख्ती बरत रहे हैं। स्टेशन परिसर में समाजकंटकों की गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर है। कुछ समय पूर्व तक स्टेशन के बाहर रेलवे परिसर का हाल यह था कि किसी भी यात्री गाड़ी के आने के समय ऑटो चालक सवारियों के चक्कर में अपने-अपने ऑटो इतने बेतरतीब तरीके से खड़ कर देते थे कि स्टेशन से बाहर आने और जाने वाले लोगों के लिए मुसीबत हो जाती थी। इसके बावजूद ऑटो चालक टोकने वाले किसी भी शख्स से एकजुट होकर उलझ जाते थ, लेकिन अब तस्वीर बदल गई है।

पुलिस की सख्ती के कारण अब पैंसेजर टे्रन के आगमन व प्रस्थान के समय आराम से स्टेशन के अंदर और बाहर आ जा सकते हैं। यही नहीं लोगों को स्टेशन पर लाने व ले जाने वाले वाहन भी अब कतारबद्ध खड़े होने लगे हैं। वही मनमानी जगह पर अपना वाहन खड़ा करने वाले दुपहिया एवं चौपहिया वाहन चालकों से जीआरपी के जवान जुर्माना राशि वसूल चुके हैं। इस मामले में पुलिस अब तक 100 वाहन चालकों से जुर्माना राशि वसूलकर उन्हें रसीद थमा चुकी है। चौकी प्रभारी दिनेशचन्द्र जोशी के मुताबिक पिछले दिनों जीआरपी 15 लोगों के खिलाफ स्टेशन परिसर में गंदगी फैलाने पर कार्रवाई कर जुर्माना राशि वसूल चुकी है। इसी प्रकार स्टेशन परिसर में सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान करने के जुर्म में 16 लोगों के खिलाफ भी कार्यवाही कर चुकी है।
दिख रहा है व्यापक असर
राजकीय रेलवे पुलिस के द्वारा की जा रही कार्यवाही का व्यापक असर देखा जा रहा हैं। जहां पहले लोग गंदगी, धूम्रपान करते रहते थे और बिना रोकटोक घूमते फिरते थे अब वो सब बंद हो चुका हैं। जीआरपी द्वारा जुर्माना वसूले जाने के बाद आमजन में व्यापक असर देखा जा रहा हैं।
यह है कानून 
पांच सौ से एक हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान
जीआरपी चौकी प्रभारी दिनेश जोशी के मुताबिक स्टेशन परिसर में इधर-उधर कचरा फेंकने या गंदगी करने वाले लोगों से 500 से 1000 रुपए तक जुर्माना राशि वसूलने का प्रावधान है। इसके अलावा गंदगी फैलाने वाले व्यक्ति को रेलवे मजिस्टे्रट की ओर से पूरे एक दिन श्रमदान की सजा से भी दण्डित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि स्टेशन परिसर में बीड़ी-सिगरेट पीने, गंदगी फैलाने व नो पार्किंग जोन में वाहन खड़ा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई में बाधा बनने वाले लोगों के खिलाफ जीआरपी राजस्थान सम्पत्ति निरूपण निवारण अधिनियम 2006 की धारा 3 व 4 के तहत मुकदमा दर्ज कर रेलवे मजिस्टे्रट के सम्मुख सम्बंधित व्यक्ति को पेश कर सकती है।

मुक्तकंठ से जीआरपी को धन्यवाद
जीआरपी द्वारा विगत कुछ समय से की जा रही कार्यवाही का ही असर है कि स्टेशन परिसर अंदर व बाहर से साफ-सुथरा दिखाई दे रहा हैं। नियमों को तोडऩे वालों से वसूले गए जुर्माने का ही असर है कि लोग अब यहां कायदे-कानून में ही रहते हैं। मैं मुक्तकंठ से जीआरपी को इस प्रयास के लिए धन्यवाद देता हूं।

सुमित गर्ग, कैंटीन संचालक बिजयनगर
सराहनीय कदम
पहले लोग स्टेशन पर बेवजह इधर-उधर घूमते रहते थे माल गौदाम तक अनाधिकृत रूप से वाहन खड़े करते थे लेकिन जब से जीआरपी कार्यवाही अमल में लाई तब से स्टेशन परिसर में ऐसी गतिविधियों पर लगाम सी लग गई हैं। यह सराहनीय कदम हैं। परिसर को गंदा करने वालों पर भी कार्यवाही की जा रही हैं जिससे स्टेशन परिसर अब पहले से बदला-बदला सा नजर आता हैं।

केशव माखीजानी, कैंटीन संचालक, बिजयनगर
रेलवे परिसर में निर्धारित स्थान के बजाय इधर-उधर वाहन पार्क करने एवं गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ कार्यवाही जारी रहेगी। आम लोगों का कर्तव्य है कि स्टेशन परिसर को साफ-सुथरा बनाए रखने में अपनी भागीदारी निभाएं।
दिनेशचन्द्र जोशी,चौकी प्रभारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar