फैजाबाद के बाद अब अहमदाबाद का नाम बदलने की तैयारी

अहमदाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या रखे जाने के ऐलान के कुछ घंटो बाद ही गुजरात सरकार ने कहा कि वह अहमदाबाद का भी नाम बदलने के लिए उत्सुक हैं। अगर कोई कानूनी बाधा नहीं आई तो शहर का नाम बदलकर करनावती रखा जाएगा।

मीडिया से बातचीत में उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अहमदाबाद का नाम बदलना चाहती है। लेकिन अगर कोई कानूनी बाधा नहीं आई और समर्थन मिला तो ही ऐसा किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘लोग आज भी महसूस करते हैं कि अहमदाबाद का नाम बदलकर करनावती रखा जाना चाहिए। अगर हमें कानूनी बाधाओं से बाहर निकलने के लिए आवश्यक समर्थन मिलता है तो हम शहर का नाम बदलने के लिए हमेशा तैयार हैं।’

इतिहास के अनुसार अहमदाबाद के आसपास का इलाका 11वीं शाताब्दी से बसा हुआ है। जिसका नाम अशवल हुआ करता था। भील के राजा अशवल के खिलाफ अनहिलवाड़ा के चालुक्य शासक कर्ण (आज के पठान) ने युद्ध कर जीत हासिल की। कर्ण ने अशवल नाम बदलकर करनावती रख दिया। इसके बाद सुल्तान अहमद शाह ने 1411 ईसवी में करनावती के समीप नया शहर बसाया। जिसका नाम अहमदाबाद रखा गया।

राज्य के कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि अहमदाबाद का नाम बदलने का वादा सत्तारूढ़ पार्टी के लिए एक और नौटंकी जैसा है। दोषी ने आगे कहा, ‘भाजपा के लिए अयोध्या में राम मंदिर बनवाने का मुद्दा और अहमदाबाद का नाम बदल करनावती करना हिंदुओं के वोट पाने का साधन है। भाजपा सत्ता में आने के बाद ऐसे मुद्दों को छोड़ देती है। उन्होंने इतने सालों तक हिंदुओं को केवल धोखा दिया है।’

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने दिवाली के मौके पर फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या रखने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था, ‘अयोध्या हमारी आन, बान और शान की प्रतीक है।’ भाजपा की सरकार ने इससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर भी प्रयागराज रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar