आर्थिक आंकड़ों और विधानसभा चुनाव पर रहेगी निवेशकों की पैनी नजर

मुम्बई। बीते सप्ताह तेजी में रहने वाले घरेलू शेयर बाजार का रुख आगामी सप्ताह वैश्विक संकेतों, भारतीय मुद्रा की चाल, पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव, आर्थिक आंकड़ों और कंपनियों के तिमाही परिणाम से तय होगा। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते सप्ताह 146.90 अंक यानी 0.42 प्रतिशत की साप्ताहिक बढ़त लेता हुआ 35,158.55 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 32.20 अंक यानी 0.31 प्रतिशत की तेजी के साथ 10,585.20 अंक पर बंद हुआ।

दिग्गज कंपनियों की तरह छोटी और मंझोली कंपनियों पर भी निवेशक मेहरबान रहे। बीएसई का मिडकैप सप्ताह के दौरान 55.47 अंक यानी 0.37 प्रतिशत की तेजी में 14,944.20 अंक पर और स्मॉलकैप 207.17 अंक यानी 1.43 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,671.85 अंक पर पहुंच गया। बीते सप्ताह शेयर बाजार पर कच्चे तेल की कीमतों में जारी गिरावट और डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा की मजबूती से निवेश धारणा को बल मिला लेकिन साथ ही अमेरिका फेडरल रिजर्व द्वारा आगामी दिसंबर में एक बार फिर ब्याज दर बढाये जाने के संकेत देने से शेयर बाजार पर दबाव रहा।

अगले सप्ताह 12 नवंबर को खुदरा महंगाई दर और औद्योगिक उत्पादन तथा 14 नवंबर को थोक महंगाई दर के आंकड़े जारी होंगे। आगामी सप्ताह कोल इंडिया, ब्रिटानिया, अशोक लीलैंड, सन फार्मा, महिंद्रा एंड महिंद्रा ,मदरसन सुमी और अपोलो हॉस्पिटल के तिमाही परिणाम जारी होने हैं। छत्तीसगढ़,तेलंगाना,मध्य प्रदेश, राजस्थन और मिजोरम में अगले सप्ताह होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी निवेशकों की नजर रहेगी। भारतीय मुद्रा की चाल और कच्चे तेल के उतार-चढाव से भी निवेश धारणा पर प्रभाव पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar