ये पब्लिक है, सब जानती है…

इन साइट्सों पर दावों की पोटली भी है तो वहीं वादों का गुलदस्ता भी परोसे जा रहे हैं। मतदाताओं को रिझाने के लिए मोबाइल पर सोशल-वार शुरू हो चुका है।
– जय एस. चौहान –
अब जबकि विधानसभा चुनाव के टिकट बंटवारा लगभग हो चुका है, सूबा सहित सभी विधानसभा क्षेत्र पूरी तरह से चुनावी मोड में आ गया है। गांवों के चौपालों से लेकर शहरों की गलियों तक चुनावी चर्चा शुरू हो गई है। राजनीतिक दलों के प्रत्याशी घोषित होने के बाद टिकटों के बंटवारे को लेकर तमाम कयास अब थम चुके हैं। विधानसभा क्षेत्र में बड़े राजनीतिक दलों सहित अन्य प्रत्याशियों के गुण-दोष पर अब मंथन किया जाने लगा है। टिकट बंटवारे के बाद रूठने-मनाने का भी सिलसिला अब जोरों पर है। कल तक जो पार्टी के झंडाबरदार थे उनमें से कई नाराजों के शिविर में अपनी ही पार्टी को कोसते नजर आ रहे हैं।

हालांकि अभी चुनावी बयार ने रफ्तार नहीं पकड़ी है। दावों और वादों का दौर अभी शुरू होने शेष हैं। सोशल साइट्स पर भी पार्टी कार्यकर्ता पूरी तरह सक्रिय हो चुके हैं। इन साइट्सों पर दावों की पोटली भी है तो वहीं वादों का गुलदस्ता भी परोसे जा रहे हैं। मतदाताओं को रिझाने के लिए मोबाइल पर सोशल-वार शुरू हो चुका है। पूरा लब्बोलुआब यही कि वह बुरा, हम अच्छे, हम अच्छे वह बुरा’ के जुमलों से सोशल साइट्स अटे-पड़े हैं। लेकिन ‘ये पब्लिक है, सब जानती है…।‘

फिलहाल, हम अपनी दो विधानसभा क्षेत्र मसूदा व आसींद की ही चर्चा करते हैं। यहां मसूदा में भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर सुशील कंवर पलाड़ा पर विश्वास जताया है, लेकिन गुलाबपुरा में पार्टी ने अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। जाहिर है, जानकारों का मानना है कि वहां पर दावेदारों की कतारें लम्बी है, इसीलिए पार्टी प्रत्याशियों के नाम पर माथापच्ची कर रही है। इसी तरह कांग्रेस ने अब तक अपने तुरूप के पत्ते नहीं खोले हैं।

अब जनता जनार्दन के हाथ में सब कुछ है। किसके गले में जीत का हार पहनाती है, यह 11 दिसम्बर को ही पता चलेगा। फिलहाल, हम तो बस इतना ही कहेंगे कि पांच वर्ष के लिए अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए हर काम छोड़ कर मतदान करने अवश्य जाएं। मतदान के प्रति सभी को जागरूक करें। बिना किसी प्रलोभन व भय के मतदान करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। हमारी विनती भी यही है और अनुरोध भी।

जय हिन्द

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar