दोनों पार्टियों ने किया सूचियों का विश्लेषण, कुछ सीटाें पर पुनर्विचार संभव

  • Devendra
  • 17/11/2018
  • Comments Off on दोनों पार्टियों ने किया सूचियों का विश्लेषण, कुछ सीटाें पर पुनर्विचार संभव

जयपुर। प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ही अपने ज्यादातर प्रत्याशियों की घोषणा कर चुके हैं। कांग्रेस के 152 और भाजपा के 162 टिकट बंटने के साथ ही समूचे राज्य में राजनीतिक तूफान आ गया है। दोनों ही दलों के कुछ नेता बगावत पर भी उतारू हैं। इनमें तो कुछ प्रभावशाली नेता भी पार्टी के खिलाफ उठ खड़े हुए हैं। ऐसे में कांग्रेस और भाजपा दोनों ने अब तक बंट चुके टिकटों में से कुछ पर पुनर्विचार करना शुरू कर दिया है। ताकि चुनाव में माहौल को शांत किया जा सके।

दोनों दलों का मानना है कि विवाद में उलझी कुछ सीटों पर टिकटों को बदलकर ना केवल जातिगत गणित का संतुलन बनाया जा सकता है बल्कि बगावत भी शांत हो जाएगी। भाजपा पिछले पांच दिन से बगावत से जूझ रही है। साथ ही अब कांग्रेस की लिस्ट सामने आने के बाद नए रणनीतिक विकल्प तलाशने की जरूरत भी महसूस हो रही है। अत: भाजपा ने ऐसी 12 से 15 सीटों को चिन्हित किया है, जिनके टिकटों पर पुनर्विचार किया जा सकता है।

जयपुर में मुख्यमंत्री आवास पर शुक्रवार को इस विषय को लेकर बैठक हुई। पार्टी सूत्रों के अनुसार अब दिल्ली में केन्द्रीय नेतृत्व के साथ चर्चा की जाएगी। वहीं पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने साफ कहा कि एक भी टिकट बदला नहीं जाएगा। राज्यसभा सदस्य ओमप्रकाश माथुर शनिवार को चुनावी रणनीति को लेकर नई दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात करेंगे।

इधर, कांग्रेस नेता शनिवार को नई दिल्ली स्थित वार रूम में फिर इकटठा हुए। दो चरणों में देर शाम तक हुई इस बैठक में स्क्रीनिंग कमेटी के साथ राज्य के बड़े नेताओं ने शेष 48 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का पैनल बनाया। सूत्रों के अनुसार नाराज नेताओं की बगावत की आशंका को देखते हुए पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान की 4-5 सीटों पर पुनर्विचार शुरू किया है। हालांकि अंतिम फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सहमति के बाद ही किया जा सकेगा।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar