पुलिस की संवेदनहीनता से महिला का शव 15 घंटे फांसी के फंदे पर लटका रहा

अशोकनगर। मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले के बहादुरपुर कस्बे में पुलिस की संवेदनहीनता के चलते एक महिला का शव 15 घंटे तक फांसी के फंदे पर लटका रहा।
सूत्रों के अनुसार बहादुरपुर थाने से महज 200 मीटर दूर रहने वाली वंदना (20) ने अपने ही घर मे फांसी लगा ली। नवविवाहिता द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या किये जाने की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन पुलिसकर्मी सिर्फ फोटोग्राफी कर कमरे का ताला लगाकर लौट गए। पुलिस कार्रवाई पूरी होने पर महिला का शव उतारे जाने के लिए महिला के परिजन करीब 15 घंटे तक पुलिस का इंतजार करते रहे, 15 घंटे बाद आज सुबह थाना प्रभारी के पहुंचने के बाद महिला का शव फांसी के फंदे से उतारा गया।
शनिवार शाम को वंदना जब यह कदम उठाई उस समय उसका पति हरिओम हरिओम शनीचरी अमावस्या पर चंदेरी स्थित शनि मंदिर गया हुआ था और परिजन नीचे थे। परिजनों को देर तक वंदना नहीं दिखी वह ढूढ़ने ऊपरी मंजिल पर गये जहां वह कमरे में फांसी पर लटकी मिली। परिजनों ने वंदना द्वारा फांसी लगाए जाने की सूचना पुलिस को कल शाम छह बजे ही दे दी गई थी। शाम को एएसआई छगनसिंह और प्रधान आरक्षक श्यामलाल घर पर आए और फांसी के फंदे पर लटका शव की फोटोग्राफी की और शव को उतारे बिना ही ताला लगाकर चले गए।
इस बीच मृतका के मायके वाले भी शाम सात बजे बहादुरपुर थाने पहुंच लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें भी अगले दिन सुबह आने का कहकर लौटा दिया।
उधर पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह भदौरिया का कहना है कि मामला उनकी जानकारी में आया है, जिसकी जांच की जा रही है, अगर किसी पुलिस कर्मी की लापरवाही सामने आती है, तो कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar