अगली दिवाली से पहले राम मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा-स्वामी

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी का मानना है कि अयोध्या में राम मन्दिर का निर्माण अदालत में हिन्दू और मुस्लिमों की सहमति के बाद अगली दिवाली से पहले शुरू कर दिया जाएगा।

श्री स्वामी ने आज यहां मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सब कुछ सही रहा तो अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर बनाने के लिए वातावरण भी तैयार हो रहा है। शिया बोर्ड ने मान लिया है कि राम जन्मभूमि पर राम मन्दिर बनना चाहिए। मुस्लिम महिलाएं भी इसके पक्ष में है। एक दो पक्ष इसमें सहमत नहीं है तो उन्हें भी मना लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला अदालत की तरफ से ही आना चाहिए, वह बाहर आपसी समझौते के पक्ष में नहीं है। इससे कई आरोप लगाए जा सकते हैं।

श्री स्वामी ने कहा कि उन्होंने अयोध्या में पूजा के मूलभूत अधिकारों पर उच्चतम न्यायालय में याचिका लगाई है। इसमें अगली सुनवाई पांच दिसंबर को होगी। सुनवाई की प्रक्रिया मार्च तक चलने एवं इसका फैसला जुलाई-अगस्त तक सामने आने की संभावना हैं। मुकदमे के पूरे दस्तावेजी प्रमाण मौजूद है। इसलिए उन्हें विश्वास है कि फैसला उनके पक्ष में होगा और दिवाली से पहले राम जन्मभूमि में गर्भगृह का निर्माण शुरू हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम बॉलीवुड फिल्मों में पैसे लगाकर हमारी संस्कृति के विरुद्ध फिल्मों का निर्माण करवाता है, उसके इन कुत्सित प्रयासों का डटकर जवाब दिया जायेगा। विवादित पद्मावती फिल्म के विरोध के के संबंध में उन्होंने कहा कि एक सोची समझी चाल के तहत देश में फिल्मों के माध्यम से षड़यंत्र फैलाकर मुगल शासकों को अच्छा और हिन्दुओं को बुरा बताया जा रहा है। लव जेहाद के बारे में पूछे गए प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि इसमें कोई लव नहीं है।

श्री स्वामी ने कहा कि कांग्रेस का अध्याय अब समाप्ति की ओर है। कांग्रेस 2019 में सरकार बनाने के सपने देख रही है लेकिन उसका यह सपना पूरा नहीं होगा। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बारे में उन्होंने कहा कि अभी इसमें और बदलाव होंगे। राजस्थान लोक सेवक संरक्षण विधेयक 2017 के संबंध में उन्होंने कहा कि यह गलत है, उन्होंने पहले भी इसका विराेध किया था। अब यह उच्चत्तम न्यायालय मेें नहीं चल पाएगा।

इससे पहले जयपुर डायलॉग्स कार्यक्रम में बोलते हुए श्री स्वामी ने कश्मीर की समस्या को देश की ढिलाई बताते हुए कहा कि अब तक की सरकारें पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करने का कानून नहीं बना पाई। पाकिस्तान ने 1980 से हमें इन्हीं मसलों में उलझा रखा है। पहले पंजाब, फिर कश्मीर और अब पूरा देश इसमें उलझा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar