छत्तीसगढ़ के नक्सली इलाके में चली पहली एक्सप्रेस ट्रेन

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में माआेवादी हिंसा से प्रभावित किरंदुल के लोगों की एक्सप्रेस ट्रेन चलाए जाने की तीन दशक से अधिक समय से लंबित मांग कल उस समय पूरी हो गयी जब भारतीय रेलवे ने ट्रेन संख्या 08512/08511 विशाखापटनम-जगदलपुर एक्सप्रेस को जगदलपुर से आगे किरंदुल तक बढ़ा दिया।

रेल एवं कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में छत्तीसगढ़ यात्रा के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के अनुरोध पर इस ट्रेन को किरंदुल तक बढ़ाने का वादा किया था। श्री गोयल के निर्देश पर रेलवे ने इस काम में तेजी दिखाते हुये एक पखवाड़े में गाड़ी शुरू कर दी। यह गाड़ी नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा से पूर्ण सुरक्षा के साथ गुजरेगी।

छत्तीसगढ़ के शिक्षामंत्री केदार कश्यप, बस्तर के सांसद दिनेश कश्यप एवं स्थानीय विधायक, नगर प्रमुख एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में ट्रेन संख्या 08152 विशाखापटनम-जगदलपुर-किरंदुल का हरी झंडी दिखा कर शुभारंभ किया गया।

यह गाड़ी जगदलपुर से किरंदुल के क्षेत्र के लोगों को विशाखापट्नम के रास्ते दिल्ली, चेन्नई और हावड़ा आदि स्थानों से जोड़ेगी। लोगों की सुविधा के लिये यह गाड़ी रात के सफर वाली होगी। इस ट्रेन में कुल नौ डिब्बे होंगे जिनमें एक एसी-3 टियर, तीन स्लीपर श्रेणी, तीन साधारण द्वितीय श्रेणी के डिब्बे और दो द्वितीय श्रेणी के लगेज-कम-ब्रेक वैन शामिल होंगे। रास्ते में यह ट्रेन दोनों दिशाओं में कोट्टावालसा, अराकु, कोरापुट, जयपोर एवं कोटापुर रोड, जगदलपुर, डिलमिली, काकलुर, दंतेवाड़ा एवं बछेली में रुकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar