ऑनलाइन फॉर्म भरने में हो रही परेशानी

एमडीएस यूनिवर्सिटी: आधार में त्रुटियों से नहीं भरे जा रहे फॉर्म
बांदनवाड़ा। जिलेभर में महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के ऑनलाइन फॉर्म भरने में विद्यार्थियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार इन दिनों एमडीएस यूनिवर्सिटी के कॉलेज फॉर्म भरे जा रहे हैं। ऑनलाइन फॉर्म को सिंगल विंडो (एकल खिड़की) के माध्यम से भरे जाने हैं, जिनका सीधा लिंक आधार कार्ड से जुड़ा हुआ है। फॉर्म भरने के लिए आधार कार्ड होना आवश्यक है। जबकि गत दिनों जितने भी आधार कार्ड बने हैं, उनमें कई प्रकार की अशुद्धियां हैं। उदाहरणार्थ विद्यार्थी का रिकॉर्ड में नाम सुनील कुमार जैन है और आधार कार्ड में मात्र सुनीलकुमार ही अंकित है तो उसका फॉर्म नहीं भरा जाएगा। इसी प्रकार कई आधार कार्ड में जन्म दिनांक सिर्फ जन्म का वर्ष लिखा हुआ है तो भी फॉर्म नहीं भरा जाएगा। यदि फॉर्म भरने के लिए विद्यार्थी ई-मित्र के माध्यम से ऑनलाईन फॉर्म भरने जाता है तो उसको सबसे पहले अपने आधार कार्ड को अपडेट करवाना होगा। फिलहाल, समस्या यह है कि सम्पूर्ण जिले में आधार कार्ड की सभी मशीनें बंद पड़ी है। यदि विद्यार्थी को अपना फॉर्म भरना है तो उसे आधार कार्ड के लिए चक्कर लगाने होंगे। सरकारी आदेशों के अनुसार निजी तौर पर आधार कार्ड बनवाया जाना लगभग बंद हो चुका है और यह काम अब पोस्ट ऑफिस को सौंप दिया गया है। जबकि क्षेत्र के किसी भी डाकघर में आधार कार्ड बनाने की सुविधा नहीं है। ऐसे में ऑनलाईन आवेदन करने वाले विद्यार्थी को अपना फॉर्म भरने के लिए अगले वर्ष का इंतजार करना पड़ेगा। जबकि ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि भी नजदीक है। ऐसे में जिन अभ्यर्थियों के आधार कार्ड में त्रुटियां हैं, उनके लिए महाविद्यालयी स्तर के ऑनलाईन फॉर्म भरना मुश्किल है।

सरकारी आदेशों से बंद हुई आधार आई.डी. डिएक्टिव
पूरे प्रदेशभर में राजस्थान सरकार ने आदेश जारी कर निजी ई-मित्र सेन्टर की आधार कार्ड आई.डी. बंद कर दी है। क्योंकि कई जगह से ऐसी शिकायतें थी कि ई-मित्र सेन्टर पर लोगों से आधार कार्ड के नाम पर लूट हो रही है। जिस पर सभी निजी ई-मित्र की आधार आई.डी. डिएक्टिवेट कर दी गई है।
शुरु में जो शिविरों में आधार कार्ड बनाए गए थे, उनमें मात्र महिला व पुरुष का जन्म वर्ष ही दर्शित था। परंतु नई गाईड लाईन के अनुसार अब जो आधार कार्ड बन रहे हैं, उनमें जन्म दिनांक सहित वर्ष व माह भी अंकित हो गया है। अगर किसी व्यक्ति के आधार कार्ड पर मोबाइल नं. रजिस्टर्ड है तो वह स्वयं भी इन्टरनेट के माध्यम से अपने आधार कार्ड में संशोधन कर सकता है।
संदीप कुलश्रेष्ठ-प्रोग्रामर आई.टी. विभाग भिनाय

भिनाय पंचायत समिति में मात्र 4 आधार ऑपरेटर हैं चालू 
आधार कार्ड में संशोधन के लिए सम्पूर्ण भिनाय में मात्र 4 आधार ऑपरेटर वर्तमान में चालू हैं।
साईनाथ ई-मित्र, भिनाय, ए.के. ई-मित्र, भिनाय, जन्नत ई-मित्र, भिनाय एवं नागोला अटल सेवा केन्द्र पर ही आधार कार्ड में संशोधन किए जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar