कोविंद,मोदी,राहुल ने ‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर दी बधाई

  • Devendra
  • 27/03/2019
  • Comments Off on कोविंद,मोदी,राहुल ने ‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर दी बधाई

नई दिल्ली। (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने ‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर वैज्ञानिकों तथा देशवासियों को बधाई दी है। श्री कोविंद ने ट्वीट कर लिखा, “मिशन शक्ति भारत के लिए एक अहम बदलाव का द्योतक है। एंटी-सैटेलाइट मिसाइल का यह परीक्षण विज्ञान में भारत के सामर्थ्य तथा देशवासियों की सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग की प्रतिबद्धता दर्शाता है। मिशन से जुड़े सभी लोगों को मेरी बधाई।”

श्री नायडू ने ट्विटर पर लिखा, “देश के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को मिशन शक्ति की सफलता के लिए बधाई देता हूँ। उपग्रह रोधी मिसाइल के सफल प्रक्षेपण से देश विश्व में एक अंतरिक्ष महाशक्ति के रूप में उभरा है। आपकी उपलब्धि पर हर देशवासी को गर्व है। भावी सफलताओं के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।” ‘मिशन शक्ति’ की सफलता की घोषणा करते हुये प्रधानमंत्री ने इसके लिए डीआरडीओ के वैज्ञानिकों और कर्मचारियों को बधाई दी और कहा “हम सभी भारतीयों के लिए यह गर्व की बात है कि यह पराक्रम भारत में ही विकसित एंटी सैटेलाइट मिसाइल द्वारा सिद्ध किया गया है। सर्वप्रथम, मैं डीआरडीओ के मिशन शक्ति से जुड़े सभी वैज्ञानिकों, अनुसंधानकर्ताओं तथा अन्य संबंधित कर्मियों को बधाई देता हूँ, जिन्होंने इस असाधारण सफलता को प्राप्त करने में योगदान दिया। आज फिर इन्होंने देश का मान बढ़ाया है। हमें हमारे वैज्ञानिकों पर गर्व है।”

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भारत को दुश्मन के उपग्रह को अंतरिक्ष में ही मार गिराने की क्षमता हासिल कर दुनिया की चौथी अंतरिक्ष महाशक्ति बनाने के लिये के वैज्ञानिकों को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया, “बहुत बढ़िया डीआरडीओ, आपके काम पर बेहद गर्व है।” पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने लिखा “एंटी-सैटेलाइट मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ को बधाई। मिशन शक्ति की सफलता सभी भारतीय के लिए गर्व का विषय है। इस उपलब्धि से हमारी रणनीतिक क्षमता और मजबूत होगी। जय हिन्द!” लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी ट्वीट कर वैज्ञानिकों को बधाई दी। उन्होंने लिखा “भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन और डीआरडीओ के हमारे वैज्ञानिकों ने 300 किलोमीटर दूरी के लाइव सैटेलाइट लक्ष्य को महज तीन मिनट में भेद दिया। यह बेहद बड़ी और ऊँची कामयाबी है। यह विश्व-शांति और स्थायित्व के लिए भारत का अहम और जिम्मेदार कदम है। भारत के अंतरिक्ष विज्ञान कार्यक्रम के लिए बड़ा दिन है।”

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar