भाकपा मनायेगी छह दिसंबर को काला दिवस

नई दिल्ली। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने बाबरी मस्जिद विध्वंस की 25वीं बरसी के मौके पर छह दिसंबर को देश में काला दिवस मानाने का फैसला किया है।

पार्टी ने 24 और 25 नवम्बर को हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यह निर्णय लिया। पार्टी महासचिव सुधाकर रेड्डी द्वारा आज यहाँ जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि पार्टी मोदी सरकार की सांप्रदायिक नीतियों के खिलाफ छह दिसंबर को बाबरी मस्जिद गिराए जाने की घटना के 25 साल पूरे होने के मौके पर देशभर में काला दिवस मनायेगी।

पार्टी ने चुनाव आयोग पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फायदा पहुँचाने के लिए गुजरात का चुनाव हिमाचल प्रदेश के साथ न कराने का आरोप लगाया। पार्टी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने जब राज्यसभा के सदस्य बनते समय हलफनामा भरा तो उसमें उनकी निजी संपत्ति तीन सौ गुना बढ़ गयी। पार्टी ने यह भी आरोप लगाया किर उनके बेटे जय शाह का कारोबार 50 हज़ार से बढ़कर 80 करोड़ रुपये हो गया जो 1600 गुना अधिक है। बैठक में पद्मावती फिल्म विवाद और गौ रक्षकों की बढ़ती हिंसा पर गहरी चिंता व्यक्त की गयी। इसमें मोदी सरकार के खिलाफ खबर प्रसारित करने वाली वायर वेब साइट को धमकाने और परेशान न करने की भर्त्सना की गयी।

पार्टी की राष्ट्रीय परिषद् की आठ से 10 जनवरी को होने वाली बैठक में एक राजनीतिक प्रस्ताव भी पारित किया जायेगा और 26 जनवरी को संविधान रक्षा दिवस मनाया जायेगा। बैठक में प्रस्ताव पर चर्चा भी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar