राजस्थान में स्मार्ट स्ट्रीट लाइटों के उपयोग से 144 करोड़ की बचत

जयपुर। राजस्थान में स्मार्ट स्ट्रीट लाइटें लगाने से पिछले तीन वर्ष में एक सौ चवालीस करोड़ रुपये की बचत हुई है।
ऊर्जा दक्षता के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए जयपुर में आज से शुरू हुए पांच दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय सेमिनार ‘इंस्पायर 2017’ में एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) के प्रबन्ध निदेशक सौरभ कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देश के बीस राज्यों में पिछले एक साल में चालीस लाख स्मार्ट एलईडी स्ट्रीट लाइटें लगाने से बिजली बिल में करीब पांच सौ करोड़ रुपये की कमी हुई है।
उन्होंने बताया कि ईईएसएल बैट्री से चलने वाले वाहनों को सरकारी विभागों में चलाने के सम्बन्ध में राज्य सरकार से बातचीत की जा रही है, इससे पेट्रोल एवं डीजल खर्च को सीमित किया जा सकेगा।
ईईएसएल के महानिदेशक अभय बाकरे ने बताया कि ईईएसएल का लक्ष्य कम ऊर्जा में गुणवत्तापूर्ण उपकरणों का निर्माण करना है। कम्पनी घरेलू उपकरणों में भी ऊर्जा के बचत की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है, इसमें अभी तक 21 उपकरणों को चिह्नित किया गया है। इसके अलावा 24 और उपकरणों में सुधार कर उन्हें कम ऊर्जा में चलने योग्य बनाया जाएगा।
उन्होंने बताया कि ऊर्जा बचत के लिए ईईएसएल उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा में 50 लाख स्मार्ट बिजली मीटर लगाएगी। जिसे बाद में दूसरे राज्यों में भी लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि बिजली के उपयोग को अधिक सुगम बनाने के लिए एक एप भी लॉन्च किया गया है जिसमें घर बैठे बिजली उपभोग की जानकारी और अधिकारियों तक शिकायत पहुंचा सकते हैं। सेमिनार में 18 देशों के ऊर्जा क्षेत्र के विशेषज्ञ अपने अनुभव साझा कर नई तकनीक के बारे में चर्चा करेंगे।
इस अवसर पर विश्व बैंक के वरिष्ठ निदेशक जॉन रूम ने बताया कि भारत के अलावा अनेक देश ऊर्जा दक्षता के कार्यक्रमों को अपना रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar