श्री नाकोड़ा पार्श्वनाथ भैरव नूतन जिनालय अंजनशलाका प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत जाजम मुहूर्त में हुए ऐतिहासिक चढ़ावे

बिजयनगर में रचा स्वर्णिम इतिहास
बिजयनगर में एक स्वर्णिम इतिहास रच गया। दृश्य था राजदरबार सिटी स्थित श्री नाकोड़ा पाश्र्वनाथ भैरव नूतन जिनालय की 12 मार्च को होने वाले अंजनशलाका प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत रविवार को पू. खरतरगच्छाधिपति आचार्य प्रवर मणिप्रभसूरिश्वर जी म.सा. की आज्ञानुवर्ती साध्वी डॉ. विद्युतप्रभाश्री म.सा. एवं नाकोड़ा मंदिर प्रेरिका साध्वी डॉ. नीलांजना श्री म.सा. के सान्निध्य में बिजयनगर के इतिहास में जाजम मुहूर्त एवं चढ़ावे के आयोजन का। जाजम मुहुर्त के तहत चढ़ावे की रफ्तार का नजारा यह रहा जैसे साक्षात नाकोड़ा भैरव प्रकटे हो। कार्यक्रम के प्रारंभ में पू. गुरुवर्या श्री ने जाजम मुहूर्त का विधि विधान सम्पन्न करवाते हुए वासक्षेप कर जाजम मुहुर्त किया। इसके बाद जाजम के लाभार्थी पारसकंवर विनयराज योगेन्द्रराज सिंघवी परिवार जाजम पर विराजमान हुआ। बाद में मूलनायक पाश्र्वनाथ परमात्मा का चढ़ावा बोला गया। मूलनायक परमात्मा की मूर्ति भरवाने का लाभ कंवरलाल प्रकाशचंद पंकज कुमार नाहर परिवार ने लिया।


यह ऐतिहासिक लाभ योगेन्द्रराज सिंघवी परिवार को मिला। गौतम स्वामी की मूर्ति भरवाने का लाभ भंवरसिंह पवनसिंह बोरदिया परिवार, दादा जिनकुशलसूरि की प्रतिमा भरवाने का लाभ योगेन्द्रराज सिंघवी परिवार एवं गुरुदेव जिनकान्तिसागर सूरी की प्रतिमा भवाने का लाभ कमलादेवी नेमीचंद कावडिय़ा परिवार ने लिया। परमात्मा के माता-पिता बनने का लाभ सोहनलाल तातेड़ एवं बसंतीलाल काल्या परिवार ने लिया। इन्द्र-इन्द्राणी बनने का नेमीचंद विनितकुमार अमितकुमार गोखरू परिवार ने लिया। माता पद्मावती की प्रतिमा भरवाने का लाभ महावीरप्रसाद अतुलकुमार पाड़लेचा परिवार धनोप ने लिया जबकि माता अम्बिका की प्रतिमा भरवाने का लाभ सोहनलाल तातेड़ व बसंतीलाल राजकुमार काल्या परिवार ने लिया। इसी तरह प्रतिष्ठा के दिवस फले चूंदड़ी का लाभ पारसमल पदमचंद रांका परिवार व जय जिनेन्द्र का चढ़ावा योगेन्द्रराज सिंघवी परिवार ने लिया। प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत नौकारसी एवं नाश्ते, विभिन्न प्रकार की पूजाओं व बहुमान के चढ़ावे बोले गए जिसके लाभार्थियों ने लाभ लिए।


इससे पूर्व ट्रस्ट मण्डल अध्यक्ष योगेन्द्रराज सिंघवी ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। समारोह में अखिल भारतीय माहेश्वरी युवा मण्डल अध्यक्ष राजकुमार काल्या, जैन श्वेताम्बर स्थानकवासी संघ अध्यक्ष सोहनलाल तातेड़, प्राज्ञ जैन युवा मण्डल अध्यक्ष अंकित तातेड़, मंत्री पवन बोरदिया, कोषाध्यक्ष पुखराज डांगी, खरतरगच्छ युवा परिषद अध्यक्ष विनयराज सिंघवी, मंत्री विमल धम्माणी, राजेन्द्र सुराणा, मूर्तिपूजक संघ अध्यक्ष विमल कोठारी, मंत्री टीकमचंद गोखरू, जितेन्द्र मुणोत, अशोक टिकलिया, संजय बड़ौला, अजय पोखरना, जितेन्द्र छाजेड़, जैन सोश्यल ग्रुप अध्यक्ष सुखराज मंडिया, मंत्री विकास चौरडिय़ा, अमित गोखरू, सुदीप सांखला, संजय कासलीवाल, पूर्व पार्षद संजय सांड सहित काफी संख्या में धर्मावलम्बी उपस्थित रहे।

पहली बार हुआ आयोजन
बिजयनगर के इतिहास में जाजम मुहूर्त व चढ़ावों का पहली बार ऐतिहासिक आयोजन हुआ। गुरुवर्या ने जाजम मुहूर्त का अर्थ समझाते कहा कि प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज करना है। यहां पहली बार अंजनशलाका महोत्सव का आयोजन होगा। जब 12 मार्च को नाकोड़ा भैरव चालीसा के रचयिता खरतरगच्छाधिपति आचार्य मणिप्रभसूरिश्वर जी म.सा. स्वयं अंजनशलाका प्रतिष्ठा सम्पन्न करवाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar