मोदी का कांग्रेस पर सबसे बड़ा प्रहार, नाम लेकर गिनाए कहे गए अपशब्द

  • Devendra
  • 08/12/2017
  • Comments Off on मोदी का कांग्रेस पर सबसे बड़ा प्रहार, नाम लेकर गिनाए कहे गए अपशब्द

गुजरात। खुद को ‘नीच’ कहे जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस को बख्शने के मूड में नहीं हैं। शुक्रवार को गुजरात के बनासकांठा में एक रैली में मोदी ने कांग्रेस पर अब तक का सबसे बड़ा प्रहार किया।

उन्होंने कांग्रेस नेताओं की ओर से उनके लिए कहे गए अपशब्दों को बाकायदा नाम लेकर गिनाया। सोनिया गांधी से लेकर मणिशंकर अय्यर तक के बयानों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि इन लोगों ने उनके लिए ‘मौत का सौदागर, नीच, कुत्ता, बंदर, रावण, भस्मासुर, हिटलर, मुसोलिनी, सांप, बिच्छू, राक्षस’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया।

पीएम ने कहा, कांग्रेस मुझे गालियां देते नहीं थकती, लेकिन मैं खामोश रहता हूं।
उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की ओर से मुझे पहली बार ‘नीच’ नहीं कहा गया है। सोनिया गांधी और उनके परिवार के सदस्य पहले भी ऐसा कहते रहे हैं। मैं नीच क्यों हूं? क्योंकि मैं गरीब परिवार में पैदा हुआ, क्योंकि मैं निचली जाति का हूं, क्योंकि मैं गुजराती हूं? क्या यही वजह है कि वो मुझसे नफरत करते हैं।’

कांग्रेस नेताओं को आड़े हाथ लेते हुए मोदी ने कहा, ‘आनंद शर्मा ने कहा था कि पीएम मोदी मानसिक रूप से बीमार हैं। एक कांग्रेस नेता ने मुझ पर ऐसा आपत्तिजनक ट्वीट शेयर किया था, जो मैं दोहरा भी नहीं सकता। मोदी ने कहा, सोनिया गांधी ने मुझे जहर की खेती करने वाला बताया था।

दिग्विजय सिंह ने कहा था कि मोदी सरकार राक्षस राज की तरह है और मोदी रावण हैं। जयराम रमेश ने कहा था, मोदी तो भस्मासुर है। बेनी प्रसाद वर्मा ने मुझे पागल कुत्ता कहा। मनमोहन सरकार में मंत्री रहे मनीष तिवारी ने मेरी तुलना अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम से की। यूपी के एक बड़े कांग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी ने कहा था कि मोदी हिटलर, मुसोलनी और गद्दाफी की लिस्ट में हैं। मुझे सांप-बिच्छू भी कहा गया।’

पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस से टिकट पाने वाले इमरान मसूद ने कहा था कि वह मोदी को टुकड़े-टुकड़े कर देंगे। रेणुका चौधरी ने मुझे वायरस कहा था। गुजरात कांग्रेस के नेताओं ने मुझे क्या-क्या कहा, इसका मैं जिक्र नहीं करना चाहता।’ पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस मेरे खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल सिर्फ इसलिए करती है, क्योंकि लोगों ने मुझ पर भरोसा जताया है।’

इससे पहले कलोल में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने एक बार फिर कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल पर जमकर हमला बोला।

उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मसले पर सिब्बल की दलील पर कहा ‘कांग्रेस नेता किसी भी पक्ष का प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। लेकिन वह अयोध्या मसले की सुनवाई टालने की बात कह रहे हैं जबकि सभी पक्ष इसका समाधान चाहते हैं।’

पीएम ने आगे कहा ‘आखिर वह क्यों आयोध्या केस की सुनवाई 2019 के बाद करवाना चाहते हैं इसके पीछे की वजह बताने की बजाय वह यह कहने में व्यस्त थे कि वह किसके वकील हैं और किसके नहीं। अगर वह सुन्नी वक्फ बोर्ड का प्रतिनिधित्व नहीं करते तो वह ये बताए कि आखिर वह किसका प्रतिनिधित्व करते हैं? क्यों कांग्रेस उन्हें पार्टी से नहीं निकालती?

बता दें कि मोदी गुजरात चुनाव के दूसरे चरण के लिए आज 4 सभाओं को संबोधित करेंगे। उन्होंने इससे पहले बनासकांठा में रैली को संबोधित किया। लोगों को बाढ़ की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि ‘जब यहां के लोग बाढ़ से जूझ रहे थे तो कांग्रेस के सांसद बंगलूरू के स्वीमिंग पूल में आराम फरमा रहे थे। बीजेपी के कार्यकर्ता उस समय लोगों के साथ कदम से कदम मिलाकर राहत कार्यों में जुटे हुए थे।

पीएम ने कहा कि जिन्होंने बाढ़ जैसे बुरे वक्त में बनासकांठा के लोगों के साथ नहीं दिया उन्हें जिले या राज्य का प्रतिनिधित्व करने का हक नहीं है। पहले यहां के लोग मां नर्मदा की पूजा-अर्चना करने के लिए लंबी दूरी तय करते थे लेकिन बीजेपी ने मां नर्मदा के पानी को लोगों के घर तक पहुंचा दिया है।

पीएम ने एकबार फिर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के पढ़े लिखे नेता मुझे नीच बुलाते हैं, ये कांग्रेस की मानसिकता है। वो अपनी भाषा शैली के लिए जाने जाएंगे और हम अपने काम के लिए। कांग्रेस को जनता जबाव बैलेट बॉक्स से देगी।

उन्होंने कहा मणिशंकर अय्यर जब पाकिस्तान गए थे तो लोगों से कहा था कि मोदी को रास्ते से हटा दो फिर देखो कि भारत पाकिस्तान की शांति का क्या होता है। मैं पूछना चाहता हूं कि मुझे रास्ते से हटाने का मतलब क्या है? मेरा अपराध क्या है। क्या मेरा अपराध ये है कि मुझे लोगों का आशीर्वाद मिल रहा है।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar