सार्वजनिक धर्मशाला में हुआ श्रीराम विवाह महोत्सव

  • Devendra
  • 28/12/2019
  • Comments Off on सार्वजनिक धर्मशाला में हुआ श्रीराम विवाह महोत्सव

गुलाबपुरा। स्थानीय सार्वजनिक धर्मशाला प्रांगण में श्री दिव्य सत्संग मंडल गुलाबपुरा बिजयनगर की ओर से आयोजित 9 दिवसीय संगीतमय श्रीराम कथा प्रवचन आयोजन के तहत महामंडलेश्वर संत श्री दिव्य मोरारी बापू ने धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए सीता विवाह के आयोजन कार्यक्रम में कहा कि राज जनक चिन्तित है कि इतने वीरो ने प्रयास किया फिर भी धनुष उठाने की बात तो छोड़ों धनुष हिला तक नही पाये। इस पर विश्वामित्र जी महाराज ने भगवान राम शिष्य के स्वरुप मे विराजित है और आदेश दिया है कि की उठहू राम भंजेहू भवचापा, मेटहू ताप जनक परितापा।

इसके पश्चात भगवान राम ने गुरुदेव विश्वामित्र को प्रणाम कर उठे है और छड़ मात्र मे दो खंड कर दिया। इस पर देवता जय जयकार करने लगे। इस दौरान जनकपुर मे आनंद छाया गया। इस मौके पर भगवान परशुराम जी महाराज का आगमन हुआ। भगवान राम से प्रसन्न होकर वहां से प्रस्थान किया। जनकपुर से अयोध्या शुभ समाचार के साथ निमंत्रण पहुंचा। महाराज दशरथ गुरुवशिष्ठ को आगे कर सुन्दर बारात लेकर भरत शत्रुघ्न के साथ जनकपुर प्रस्थान किया। जहां बड़े ही धूमधाम से विवाह सम्पन्न हुआ। इस दौरान दिव्य सत्संग मण्डल गुलाबपुरा बिजयनगर के तत्वावधान मे भगवान श्रीराम का सीता जी के साथ बड़े ही धूमधाम के साथ विवाह महोत्सव मनाया गया।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar