पैदल मार्च से फुरसत मिले तो जनता की सुध लें गहलाेत: डाॅ. पूनियां

  • Devendra
  • 28/12/2019
  • Comments Off on पैदल मार्च से फुरसत मिले तो जनता की सुध लें गहलाेत: डाॅ. पूनियां

जयपुर। (वार्ता) राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कोटा के अस्पताल में 77 बच्चों की मौत को दुखद एवं पीड़ादायक बताते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अगर पैदल मार्च से फुरसत मिल गयी हो तो वह जनता की सुध भी लें। डॉ. पूनियां ने शनिवार को कोटा के जेके लोन अस्पताल का दौरा किया। वहां पिछले एक महीने में 77 बच्चों की मौत एवं 48 घंटे में 10 बच्चों की मौत हुई है। उन्होंने चिकित्सक, नर्सिंग कर्मियों एवं मरीजों के परिजनों से इस संबंध में बातचीत करके जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि श्री गहलोत पैदल मार्च निकालने में बहुत व्यस्त हैं। पैदल मार्च से थोड़ी फुर्सत मिल जाती है, तो दिल्ली दरबार में उनके लिए हाजिरी मस्ट है। उनको जनता की कोई चिंता नहीं है। सरकार सड़क पर आने के अलावा दूसरा काम नहीं कर रही, इसीलिए मौतों का आंकड़ा बढ़ गया। उन्हें चिंता होती तो वह इसे कम कर सकते या मौतों का सिलसिला रोक सकते थे।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि सरकार के किसी नुमाइंदे ने इस घटना के बाद अस्पताल में आकर नहीं देखा। सरकार का अभी एक साल पूरा होने पर दावा किया गया कि जन घोषणा पत्र में अच्छी स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति प्रतिबद्ध रहेंगे। यह सिर्फ कागजों में ही दर्ज है, जबकि धरातल पर तो राज्य की पूरी स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा हुई हैं। श्री गहलोत ने कल एक अधिकारी को भेजकर अपने काम की इतिश्री पूरी कर ली। उन्होंने कहा कि अब तक जो तथ्य ध्यान में आए हैं, उस पर एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार होने चाहिए। ताकि एक-एक बिंदु पर विचार करके प्रतिपक्ष के नाते हम सरकार को जगाने का काम करें। डाॅ. पूनियां ने कहा कि वह राज्यपाल से भी गुजारिश करेंगे कि वह ऐसे संवेदनशील मामले में हस्तक्षेप करें और सरकार को पाबंद करें।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar