लापरवाही की पराकाष्ठा

  • Devendra
  • 23/01/2020
  • Comments Off on लापरवाही की पराकाष्ठा

आखिरकार, इस कार्य के लिए जिम्मेदार कंपनी व ठेकेदार पर कार्रवाई करने में नगर पालिका प्रशासन ने इतनी देर क्यों की, यह सवाल तो अभी शेष है। शहर की जनता को इसका भी जवाब चाहिए।
कुछ लोग अपनी आदत से बाज नहीं आते और नगर पालिका बिजयनगर अपनी लापरवाही से। कार्ययोजना तो पूरे जोर-शोर से बनाती है, लेकिन उस पर अमल नहीं हो पाता। कुछ फाइलों में दबी रह जाती है तो कुछ की रफ्तार धीमी रहती है। कुछ की अनदेखी कर दी जाती है तो कुछ कार्ययोजनाओं को अमलीजामा पहनाया ही नहीं जाता। नगर पालिका प्रशासन की यह लापरवाही शहर की समस्याओं को लेकर हो या फिर राष्ट्रीय पर्व को लेकर। तत्परता से जिस कार्य को करना चाहिए था उसमें भी सुस्ती का आलम है। शायद यही सुस्ती और लापरवाही नगर पालिका बिजयनगर की पहचान बन गई है। फिलहाल, हम शहर में प्रस्तावित 100 फीट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज लगाने की कार्ययोजना की बात कर रहे हैं।

गौरतलब है कि करीब 40 दिन पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष ने शहर के स्थापना के शताब्दी समारोह में बिजयनगर के आसमान में गणतंत्र दिवस पर 100 फीट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज फहराने का वादा किया था। यह वादा भी 40 दिन में शेष चार दिन में संभव होगा, इस पर संशय लाजिमी है। फिलहाल, खारीतट संदेश ने नगर पालिका प्रशासन को प्रस्तावित 100 फीट ऊंचा झंडा लगाने का वादा याद दिलाया तो प्रशासन हरकत में आया।
आखिरकार, इस कार्य के लिए जिम्मेदार कंपनी व ठेकेदार पर कार्रवाई करने में नगर पालिका प्रशासन ने इतनी देर क्यों की, यह सवाल तो अभी शेष है। शहर की जनता को इसका भी जवाब चाहिए। याद है न समय कम है और प्रस्तावों की फेहरिश्त लम्बी है। जय हिन्द।
जय एस. चौहान

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar