आदर्श शिक्षक चौहान नहीं रहे

  • Devendra
  • 05/02/2020
  • Comments Off on आदर्श शिक्षक चौहान नहीं रहे

बिजयनगर। कस्बे के हजारों लोगों के प्रिय शिक्षक रहे गुर्जर मोहल्ला निवासी यज्ञसेन चौहान (91) पुत्र वीरसेन चौहान का गत दिवस निधन हो गया। चौहान ने 35 वर्ष की राजकीय सेवा में एक लोकप्रिय शिक्षक के रूप में अमिट छाप छोड़ी है। वे जीवन पर्यन्त आर्य समाज से जुड़े रहे तथा वर्तमान स्थानीय आर्य समाज में संरक्षक थे। सेवानिवृति के बाद वे एक बार भाजपा से पार्षद भी रहे। चौहान अपने पीछे दो पुत्र सुमनसिंह व मानसिंह चौहान तथा दो पुत्रियां उर्मिला कंवर व नवल कंवर, नाती दोहिते व पौत्र पौत्रियों सहित भरा पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनके निधन पर आर्य समाज के पूर्व प्रधान किशनगोपाल शर्मा, प्रधान जगदीश सेन ने गहरा शोक जताया है। इसी प्रकार पालिका अध्यक्ष सचिन सांखला, उपाध्यक्ष सहदेवसिंह कुशवाह, भाजपा नेता नवीन शर्मा, पूर्व पालिका अध्यक्ष धर्मीचन्द खटोड़, पूर्व विधायक किशनगोपाल कोगटा, पूर्व मंडल अध्यक्ष नौरतमल लोढ़ा, प्रहलाद शर्मा ने भी शोक जताया है।
चौहान का परिचय
मूलत: शाहपुरा के रहने वाले यज्ञसेन चौहान की नियुक्ति 1952 में शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद पर हुई थी। इसके बाद वे लम्बे समय तक स्थानीय राज. ना. उ. मा. विद्यालय में शिक्षक रहे। विभिन्न स्कूलों में नियुक्ति के दौरान वे बच्चों से अपनेपन की भावना के साथ जुड़े रहे। इसी वजह से वे जहां भी रहे अपने शिष्यों पर अमिट छाप छोड़ते रहे। कस्बे के वयोवृद्ध शिक्षक चौहान के निधन से उनके हजारों शिष्यों में उदासी छा गई है।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar