59 रोगी लाभान्वित, 410 को मिला उपचार एवं परामर्श

  • Devendra
  • 12/02/2020
  • Comments Off on 59 रोगी लाभान्वित, 410 को मिला उपचार एवं परामर्श

महावीर भवन में आयोजित दस दिवसीय नि:शुल्क आवासीय आयुर्वेद शल्य चिकित्सा शिविर का समापन
बिजयनगर। आयुर्वेद विभाग राजस्थान एवं जैन सोश्यल ग्रुप बिजयनगर के संयुक्त तत्वावधान में महावीर भवन बिजयनगर में आयोजित दस दिवसीय नि:शुल्क आवासीय आयुर्वेद शल्य चिकित्सा शिविर का समापन मंगलवार को समारोह पूर्वक किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि जेएसजी इंटरनेशनल फेडरेशन के चेयरमैन कमल संचेती रहे। समारोह की अध्यक्षता जेएसजी सेन्ट्रल संस्था जयपुर के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप भण्डारी ने की। वहीं समाजसेवी प्रतापचन्द सांड, ज्ञानसिंह सांखला, एस.एस. जैन एवं शोभागसिंह नाबेड़ा बतौर विशिष्ठ अतिथि मौजूद रहे। जेएसजी सचिव ज्ञानचन्द खाब्या ने बताया कि शिविर में आयुर्वेद विभाग की चिकित्सक टीम में डॉ. रमाशंकर पचौरी, डॉ. सुनिल कानोडिय़ा, डॉ. सुनिल शर्मा, डॉ. नीता शर्मा, डॉ. श्यामसुन्दर स्वर्णकार एवं डॉ. विनित जैन ने 59 रोगियों के ऑपरेशन किए। इस दौरान 410 रोगियों को उपचार एवं परामर्श प्रदान किया गया। शिविर समापन के अवसर पर 560 लोगों को औषधियुक्त काढ़ा वितरण किया गया।

समारोह को सम्बोधित करते हुए डॉ. सुनिल शर्मा ने कहा कि जेएसजी बिजयनगर पीडि़त मानवता के हित में जिस प्रकार से सेवाएं दे रहा है वह अनुकरणीय है। जेएसजी इंटरनेशनल फेडरेशन के चेयरमैन कमल संचेती ने कहा कि जेएसजी की पहचान जीव दया के रूप में बन चुकी है। देशभर में ग्रुप के सदस्य बन्धुत्व भावना के साथ गायों को रोटी, पक्षियों के लिए दाना-पानी की व्यवस्था में जुटे हुए है। बिजयनगर शाखा का यह शिविर अपने आप में एक अभिनव पहल है। ग्रुप सामाजिक सरोकार से जुड़े कार्यों को बखूबी अंजाम दे रहा है। समारोह के दौरान मरीज महावीर सिखवाल ने बताया कि वे अर्श रोग से काफी समय से पीडि़त थे और इलाज के लिए बहुत भागदौड़ भी की लेकिन फायदा नहीं मिला। लेकिन कैम्प में इलाज लेकर वे पूर्ण रूप से संतुष्ट है। चौसला निवासी राकेश शर्मा ने बताया कि वे अर्श रोग से काफी परेशान थे बहुत से डॉक्टरों को दिखाया लेकिन कोई फायदा नहीं मिला। अंतत: शिविर में इलाज कराने के पश्चात अच्छा महसूस कर रहे हैं। समीपवर्ती ग्राम गनाहेड़ा के नूर मोहम्मद ने बताया कि शिविर में ऑपरेशन के बाद वो काफी अच्छा महसूस कर रहे है। इस दौरान सभी अतिथियों ने अपने विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर जेएसजी अध्यक्ष महावीर कोठारी, कोषाध्यक्ष जितेन्द्र छाजेड़, शिविर संयोजक रूपचन्द नाबेड़ा, चैनसिंह चपलोत, मूलचन्द नाबेड़ा, दिलीप मेहता, तेजमल बुरड़, पुखराज डांगी, राजेश बाफणा, विकास चोरडिय़ा, महावीर पामेचा, दिलीप तलेसरा, सुखराज मंडिया, नरेन्द्र बडौला, ज्ञानचन्द कोठारी, प्रेमराज बोहरा, अनिल नाबेड़ा, संजय बडौला सहित जेएसजी यूथ के सदस्य मौजूद रहे।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar