रिक्त विद्यालय भवनों के रख रखाव के लिए एक समग्र नीति बनाने की जरुरत-डोटासरा

  • Devendra
  • 18/02/2020
  • Comments Off on रिक्त विद्यालय भवनों के रख रखाव के लिए एक समग्र नीति बनाने की जरुरत-डोटासरा

जयपुर। (वार्ता) राजस्थान के शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने आज विधानसभा में कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग में विद्यालयों के समन्वयन से रिक्त हुए विद्यालय भवनों के रख रखाव एवं उन्हें काम में लेने के लिए एक समग्र नीति बनाने की जरुरत है। श्री डोटासरा प्रश्नकाल में विधायकों के पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि गत सरकार के समय 22 हजार से अधिक स्कूलों का समन्वय करने से जो स्कूल भवन रिक्त हो गये है, वर्तमान में इनके रखरखाव की समस्या उत्पन्न हो गई है। इन स्कूल भवनों का निर्माण सरकार और भामाशाहों की पूंजी से कराया गया है।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में निर्देश भी दिये गये हैं और नियम भी बनाये गये हैं कि सरकारी विभाग इन भवनों को किराये पर भी ले सकते हैं। इसके लिए जिला कलक्टर को अधिकृत किया गया था। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों की संख्या पर्याप्त होने पर इन विद्यालयों को पुनः खोले जाने पर भी सरकार विचार कर रही हैं। इस संबंध में ब्लॉक स्तर पर उपखण्ड अधिकारी के माध्यम से और जिला कलक्टर के माध्यम से प्रस्ताव मांगे गये हैं। इससे पहले विधायक मदन प्रजापत के मूल प्रश्न के जवाब में श्री डोटासरा ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग में विद्यालयों के समन्वयन से रिक्त हुए विद्यालय भवनों का मालिकाना हक शिक्षा विभाग के पास है तथा रिक्त भवनों के रख-रखाव के लिए जिस विद्यालय में समन्वित किया गया है, उस विद्यालय का संस्था प्रधान जिम्मेदार है।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar