तेईस पाकिस्तान नागिरकों को भारत की नागरिकता देने की मांग विधानसभा में उठी

  • Devendra
  • 03/03/2020
  • Comments Off on तेईस पाकिस्तान नागिरकों को भारत की नागरिकता देने की मांग विधानसभा में उठी

जयपुर। (वार्ता) राजस्थान विधानसभा में आज अजमेर में कई वर्षों से रह रहे तेईस पाकिस्तान नागरिकों को भारत की नागरिकता देने का मामला उठा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक अनिता भदेल ने शून्यकाल में स्थगन प्रस्ताव के तहत यह मामला उठाया। श्रीमती भेदल ने कहा कि देश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू हो चुका है और अजमेर में तेईस पाकिस्तानी नागरिक पिछले कई वर्षों से रहे हैं। इन लोगों को भारत की नागरिकता देने की कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि अजमेर के मनोज आडवानी ने पाकिस्तान के कराची में विवाह किया और उनके पास शादी का प्रमाण पत्र भी है। उनके दो बेटियां हैं। आवदेन करने के बाद भी उनकी पत्नी को भारत की नागरिकता नहीं मिली हैं जबकि भारत में रहते 11 वर्ष दो महीने हो गये। उन्होंने कहा कि आवेदन के दो साल सात माह उपरांत भी नागरिकता नहीं मिल रही हैं। इसी तरह उन्होंने पाकिस्तानी नागरिक हंसराज के बारे में बताया कि हंसराज भी सोलह साल पहले भारत आया और उसने ऑनलाइन भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया।

श्रीमती भदेल ने कहा कि चिकित्सक मुनेश को कट्टरपंथी लोगों के दबाव में पाकिस्तान छोड़ना पड़ा और वह सात जनवरी 2013 को अजमेर आ गया, लेकिन उससे नागरिकता के संबंध में आवदेन ही नहीं मांगा जा रहा है। उन्होंने मांग की कि उनसे आवेदन मांगा जाये ताकि उन्हें नागरिकता मिल सके। इसी तरह उन्होंने दो अन्य पाकिस्तान नागरिकों का भी उदाहरण दिया जो पिछले पन्द्रह साल से अजमेर में रहे हैं लेकिन उन्हें नागरिकता नहीं मिली। उन्होंने राज्य सरकार से मांग की कि इन लोगों को भारत की नागरिकता देने संबंधी कार्रवाई की जाये ताकि इन्हें नागरिकता मिल सके।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar