मतदान शुरू, प्रधानमंत्री की मां ने डाला वोट

गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राहुल गांधी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई के साथ ही सत्तारूढ भाजपा और मुख्य विपक्षी कांग्रेस के लिए ‘करो या मरो की जंग’ और 2019 के लोकसभा चुनाव का ‘सेमीफाइनल’ तक करार दिये जा रहे गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण में आज राज्य के उत्तर और मध्यवर्ती क्षेत्र के 14 जिलों की 93 सीटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान सुबह आठ बजे शुरू हो गया।

कुछ स्थानों पर इवीएम में तकनीकी गड़बड़ी के चलते मतदान विलंब से शुरू होने की भी सूचना है। पहले चरण की तुलना में सुबह आज अधिक ठंड होने के बावजूद मतदान शुरू होने के पहले से ही कई स्थानों पर मतदाताओं की लंबी कतारे दिख रही हैं। सुबह जल्द मतदान करने वालो में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 97 वर्षीय माता हीराबा ने गांधीनगर में, पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन ने घाटलोडिया में तथा कांग्रेस के अल्पेश ठाकोर ने अहमदाबाद के एंदला में वोट डाले।

श्री मोदी स्वयं आज अहमदाबाद के राणिप क्षेत्र में निशान विद्यालय बूथ पर मतदान करेंगे जबकि पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी शाहपुर के हिंदी विद्यालय, वित्त मंत्री अरूण जेटली वेजलपुर तथा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह नाराणपुरा में मतदान करेंगे। जिन सीटों पर आज मतदान हो रहा है उनमें से 2012 के पिछले चुनाव में सत्तारूढ भाजपा ने 52, कांगेस ने 39 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी तथा निर्दलीय ने एक एक सीट जीती थी। गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी बी बी स्वेन ने बताया कि दूसरे चरण के लिए लगभग दो लाख मतदानकर्मी तथा एक लाख से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं।

मतदान शाम पांच बजे तक होगा। इस दौरान भी पूरी तरह वीवीपैट युक्त इवीएम का इस्तेमाल हो रहा है। दूसरे चरण में उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल (महेसाणा), मंत्री भूपेन्द्र चूडासमा (धोलका), मंत्री शंकर चौधरी (वाव), कांग्रेस के अल्पेश पटेल (राधनपुर), पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल (डभोई), कांग्रेस समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार जिग्नेश मेवाणी (वडगाम) जैसे प्रमुख चेहरों समेत कुल 851 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 69 महिलाएं हैं। भाजपा ने 93 कांग्रेस 91 राकांपा 28, बसपा 75, आप 8, शिव सेना 17, जदयू ने 14 उम्मीदवार उतरे हैं। 350 निर्दलीय तथा गैर मान्यता प्राप्त दलों के 170 उम्मीदवार भी मैदान में हैं।

सर्वाधिक 34 उम्मीदवार महेसाणा सीट तथा सबसे कम दो झालोद (आदिवासी सुरक्षित) सीट पर हैं।
कुल मतदाताओं की संख्या 2.22 करोड़ है जिसमें 1.15 करोड पुरूष हैं।
इनमें से आधे से अधिक 40 साल से कम उम्र के और 15 फीसदी से अधिक 25 साल से कम उम्र के हैं। कुल 24575 बूथ बनाये गये हैं। क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र दरियापुर (6 वर्ग किमी) और सबसे बड़ा राधनपुर (2544 वर्ग किमी) है जबकि मतदाताओं की संख्या के लिहाज से लीमखेड़ा (187245) सबसे छोटा और अहमदाबाद का घाटलोडिया (352316) सबसे बड़ा है।
डेढ से दो लाख मतदाताओं वाले सात तथा शेष 86 दो लाख से अधिक वाेटरों वाले हैं।

पिछली बार दूसरे चरण में इन्हीं क्षेत्र की सीटों (कुल 95) पर 71 प्रतिशत से ज्यादा की रिकार्ड वोटिंग हुई थी। दूसरे चरण के मतदान के साथ ही पहले चरण के चार क्षेत्रों की कुल छह बूथ पर पुनर्मतदान भी हो रहा है। इन पर इवीएम में चुनाव के पहले जांच के लिए किये गये मॉक पॉल के आंकड़े को मिटाया नहीं गया था। इनमें से दो दो बूथ जामजोधरपुर और उना तथा एक एक निझर और उमरगांव विधानसभा क्षेत्र में हैं।

पहले चरण में नौ दिसंबर को 89 सीटों पर हुए चुनाव में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी समेत कुल 977 उम्मीदवार थे। इसके लिए 66.75 प्रतिशत मतदान हुआ था जो पिछली बार से 4 प्रतिशत कम था। पहले चरण की सीटों में से पिछली बार भाजपा को 63, कांग्रेस को 22, गुजरात परिवर्तन पार्टी को दो तथा राकांपा और जदयू को एक एक सीटे मिली थी।

कुल मिला कर 182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 115, कांग्रेस ने 61, गुपपा और राकांपा को दो दो तथा जदयू और निर्दलीय को एक एक सीट मिली थी।
इस बार मतगणना 18 दिसंबर को होगी।
यहां सामान्य बहुमत का आंकड़ा 92 है।

विश्लेषकों का कहना है कि पिछले 22 साल से सत्तारूढ भाजपा के लिए 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल कहे जा रहे इस चुनाव को जीतना सत्तारूढ़ दल के लिए बेहद जरूरी है।
दूसरी ओर अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही कांग्रेस के नये अध्यक्ष राहुल गांधी को इसमें पार्टी की जीत से जबरदस्त लाभ और पार्टी के लिए संजीवनी मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar