विद्यालय को पीपीपी मोड पर देने के विरोध में सौंपा ज्ञापन

  • Devendra
  • 14/12/2017
  • Comments Off on विद्यालय को पीपीपी मोड पर देने के विरोध में सौंपा ज्ञापन

फोटो: योगेश सुरभि
गुलाबपुरा। (ललित धनोपिया) जुना गुलाबपुरा के ग्रामवासियों ने मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी गुलाबपुरा को ज्ञापन सौंपकर राजकीय माध्यमिक विद्यालय जुना गुलाबपुरा को पीपीपी मोड पर दिये जाने का विरोध किया। ज्ञापन में बताया गया कि विद्यालय गुलाबपुरा कस्बे का सहशिक्षा का एकमात्र राजकीय विद्यालय है जो काफी पुराना विद्यालय है तथा स्थानीय क्षेत्र के समस्त विद्यालयों का 5वीं व 8वीं का बोर्ड परीक्षा केन्द्र भी हैं।

राज्य सरकार द्वारा राजकीय विद्यालयों को पीपीपी मोड पर देने का अभियान के तहत उक्त विद्यालय का नाम भी प्रस्तावित हैं। ग्रामवासियों ने बताया कि विद्यालय के शिक्षक गांव के प्रत्येक परिवार से जुड़कर शिक्षा के उद्देश्य को सफल बना रहे है।

एसडीएमसी व एसएमसी विद्यालय की प्रगति से खुश हैं। विद्यालय की वर्तमान स्थिति (शैक्षणिक स्तर) तथा परीक्षा परिणाम, सहशैक्षिक गतिविधियां उच्च्तम स्तर की है तथा सभी ग्रामवासी समय-समय पर विद्यालय में आते है, विद्यालय की सभी बैठकों में हिस्सा लेते है, विद्यालय के 6 विद्यार्थियों ने हाल ही में राज्य स्तर पर हैण्डबॉल प्रतियोगिता में जिले प्रतिनिधित्व किया हैं। विद्यालय में समय-समय पर स्थानीय भामाशाहों से पर्याप्त विकास राशि व आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये जाते हैं।

ऐसे में नियमित रूप से सफल संचालित विद्यालय को पीपीपी मोड पर देना कतई उचित नही हैं। इसी क्रम में सभी ग्रामीणों ने बैठक में निर्णय लिया कि इस विद्यालय को पीपीपी मोड पर नही देने देंगे। ग्रामवासियों ने बताया कि यदि इस विद्यालय को पीपीपी मोड पर दे दिया जाता है तो ग्रामवासियों को आंदोलन करना पडे़गा जिसके जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। ज्ञापन देने वालों में रामधन जाट, रणजीतनाथ, दिनेश प्रजापत, पुखराज चौधरी, सत्यनारायण जाट, रामस्वरूप चौधरी, पार्षद रंगलाल जाट, राजाराम जाट आदि मौजूद थे।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar