भावना के प्रवाह में बह गए उद्देश्य

  • Devendra
  • 08/04/2020
  • Comments Off on भावना के प्रवाह में बह गए उद्देश्य

लॉकडाउन के प्रति लोगों को जागरूक करने निकली पुलिस का दांव पड़ा उलटा
कोरोना (कोविड 19) संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश भर में जारी लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग की महती भूमिका है। लॉकडाउन का उद्देश्य भी यही है। पुलिस व प्रशासन ने दिनरात एक कर पूरी शिद्दत से अपने कर्तव्य को निभाया। लेकिन मंगलवार शाम को जिस उद्देश्य से बिजयनगर में अभिभादन रैली निकाली गई उससे इस उद्देश्य पर कुठाराघात हो गया। रैली में बाइक सवार ‘अति उत्साहित’ युवकों ने उद्देश्य पर पानी फेर दिया। पढि़ए पूरी रिपोर्ट…
बिजयनगर। जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप के निर्देश पर बिजयनगर पुलिस की ओर से कस्बे में मंगलवार शाम निकाली गई रैली का उद्देश्य लॉकडाउन के प्रति लोगों को जागरूक करना था ताकि कोरोना महामारी से बचाव हो सके। इसके उलट कस्बे की जनता पुलिस के स्वागत करने को लेकर इतनी भावुक हो गई कि सड़कों व गली मोहल्ले के बाहर लोग सोशल डिस्टेंस को ही भूल गए। दूसरी ओर कस्बे के बुद्धिजीवियों की नजरें टकटकी लगाकर इस महामारी के दौरान सर्वाधिक व्यस्तता और अपने कर्म के प्रति निष्ठा के साथ अपने काम में जुटे डॉक्टर अरविन्द उदय को भी तलाश रही थी। लेकिन वे कहीं नजर नहीं आए।

मंगलवार शाम सहायक जिला पुलिस अधीक्षक जयनारायण मीणा के नेतृत्व में पुलिस प्रशासन की ओर से निकाले गए जन जागरूकता मार्च की शुरुआत पीपली चौराहा से की गई जो शहर के विभिन्न मुख्य मार्गों सहित गली-मोहल्लों से होकर गुजरा तो नजारा किसी सामाजिक, धार्मिक या किसी संगठन की शोभायात्रा जैसा नजर आया। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने पुलिस प्रशासन के स्वागत के लिए मुख्य बाजारों में आकर्षक रंगोली सजाई। वहीं कई जगहों पर पुलिसकर्मियों के लिए फूल माला हाथों में लेकर लोग नजर आए तो कहीं पर लोग पुलिस के इंतजार में पलक -पांवड़े बिछाए अपने-अपने घरों के बाहर खड़े रहे।

मार्च में आगे पुलिसकर्मी दुपहिया वाहन पर चल रहे थे उनके पीछे जीप में बैठे थाना प्रभारी विजय सिंह रावत, पालिका अध्यक्ष सचिन सांखला सभी का अभिवादन करते हुए माइक पर अब तक किए गए सहयोग की भावना को आगे भी जारी रखने की अपील कर रहे थे। वहीं पीछे चल रहे नसीराबाद वृताधिकारी बृजमोहन असवाल, तहसीदार स्वाति झा सहित कई पुलिसकर्मी मार्च में दुपहिया वाहनों के साथ चल रहे थे। मार्ग में विभिन्न जगहों पर मार्च पर पुष्पवर्षा कर करतल ध्वनि से पुलिस प्रशासन का अभिवादन किया जा रहा था। लोग भारत माता की जय के नारे लगा रहे थे। मार्च जैसे ही चन्दा कॉलोनी क्षेत्र पहुंचा तो वहां मौजूद पार्षद नौशाद मोहम्मद ने थाना प्रभारी रावत का पुष्प वर्षा स्वागत किया।

इसके पश्चात मार्च पीपली चौराहा होते हुए बलवीर कॉलोनी पहुंचा जहां पार्षद दातारसिंह नरूका ने पुष्प वर्षा के साथ स्वागत कर पुलिसकर्मियों का अभिवादन किया। तत्पश्चात मार्च पुलिस थाना पहुंचकर सम्पन्न हुआ। इस दौरान कई स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो पाई। बेफिक्र होकर बड़ी तादाद में सड़कों पर निकल आए।

इन मार्गों से होकर गुजरा मार्च
जागरूकता मार्च पीपली चौराहा, महावीर बाजार, कृषि मंडी चौराहा, सब्जी मंडी बाजार, शिव बाजार, बापू बाजार, स्टेशन चौराहा, सथाना बाजार, राजनगर चौराहा, बजरंग अखाड़ा गली, पुलिस चौकी, जायका रोड, गुलाबपुरा मार्ग, नृसिंहद्वारा रोड, मील चौक, कृषि मंडी रोड, ब्यावर रोड आदि स्थानों से निकाला गया।
छतों, बालकनियों से बरसाए फूल, बजाई तालियां तो कहीं-कहीं अभिवादन को सड़क पर उतर आए लोग
पुलिस प्रशासन की ओर से निकाला गया जन जागरूकता मार्च जैसे ही मार्गो पर शुरू हुआ तो कई घरों की बालकॉनी और छतों से लोगों ने करतल ध्वनि से अभिवादन किया तो अधिकतर जगहों पर लोग सड़कों पर उतर आये और पुलिसकर्मियों के स्वागत करने की होड़ में दिखाई दिये। इस दौरान कईयों ने थानाप्रभारी रावत पर गुलाब की पंखुडियों की बारिश कर दी। वहीं कई गली मोहल्ले ऐसे भी थे जहां आमजन पुलिस मार्च के स्वागत के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। लेकिन पुलिस प्रशासन ने अचानक कार्यक्रम में बदलाव करते हुए जल्द से जल्द थाना पहुंचने का मन बना लिया। ऐसे में उन क्षेत्रवासियों को निराशा का सामना करना पड़ा जहां रैली के पहुंचने का कार्यक्रम पहले से निर्धारित था।
की गई कानूनी कार्रवाई
मंगलवार शाम पुलिस प्रशासन की ओर से निकाले गए जन जागरूकता मार्च के दौरान पीछे से आमजन अपने-अपने दुपहिया वाहनों के साथ मार्च के साथ आ गए जिनको मार्ग से खदेड़ा गया। ऐसे लोगों द्वारा धारा 144 के प्रावधानों की अवहेलना करने पर 18 दुपहिया वाहनों एवं चालकों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की गई है।
जयनारायण मीणा, सहायक जिला पुलिस अधीक्षक
अधिकारियों को करा दिया है अवगत
मुझे एसएचओ बिजयनगर द्वारा एडिशनल एसपी की अध्यक्षता में केवल फ्लैगमार्च की सूचना दी गई थी। मौके पर रैली हो रही थी। मैंने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग रखने की अपील की, लेकिन फिर भी मुझे सही नहीं लगा तो मैं वहां से बाहर आ गई और एसएचओ को फोन पर निर्देशित कर दिया गया। मैंने घटनाक्रम से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया है।
डॉ. स्वाति झा, तहसीलदार

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar