कई पिछली सीटें गंवाने के बावजूद भाजपा बहुमत की ओर

गांधीनगर। गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में सत्तारूढ भाजपा शुरूआती खींचतान के बाद एक तरह से निर्णायक बढ़त बनाती दिख रही है और अब तक कुल 182 सीटों में से 18 पर जीत हासिल कर चुकी है और 82 अन्य पर बढ़त बनाये हुए है।

पहले से बेहतर प्रदर्शन कर रही कांग्रेस ने भाजपा से अब तक करीब आधा दर्जन सीटें छीन ली है हालांकि भाजपा ने भी कांग्रेस से कुछ सीटें झटक ली हैं। आधिकारिक रूप से जारी 35 सीटों के परिणाम में से मुख्य विपक्षी कांग्रेस ने 15 सीट पर जीत हासिल है जबकि 62 पर उसकी बढ़त थी।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और भारतीय ट्राइबल पार्टी ने एक एक पर जीत हासिल की है। पिछले 22 साल से राज्य में सत्तारूढ भाजपा के प्रत्याशी तथा मंत्री और जाने माने आदिवासी नेता गणपत वसावा मांगरोल सुरक्षित सीट पर जीत गये हैं। वह पिछली बार भी इस सीट पर जीते थे। नडियाद सीट पर भाजपा के पंकज देसाई (पिछली विधानसभा में पार्टी के सचेतक) ने अपनी सीट बकरकरार रखी।

भाजपा के प्रत्याशी तथा विजय रूपाणी सरकार के कैबिनेट मंत्री बाबू बोखिरिया ने पोरबंदर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी और पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया को 1855 मतों से पराजित कर अपनी यह सीट बरकरार रखी। पिछली बार जदयू के इकलौते विधायक रहे और भारतीय ट्राइबल पार्टी के नेता छोटू वसावा एक बार फिर झगड़िया सीट पर जीत गये हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पूर्व सीट मणिनगर पर भाजपा के सुरेश पटेल ने कांग्रेस की श्वेता ब्रह्मभट्ट को 75199 मतों के विशाल अंतर से हरा दिया। कांग्रेस ने भाजपा से जमालपुर खाड़िया, जूनागढ़, मांगरोल, जंबूसर आदि सीटें छीन ली हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कांधल जाडेजा ने कुतियाणा सीट बरकरार रखी है।

अपुष्ट सूचना के अनुसार राजकोट पश्चिम सीट से मुख्यमंत्री विजय रूपाणी समेत राज्यभर में भाजपा 60 सीटों पर जीत के करीब है जबकि कांग्रेस लगभग 35 सीटों पर। भाजपा ने सूरत, राजकोट और अहमदाबाद जैसे शहरी क्षेत्रों में भाजपा का बेहतर प्रदर्शन दिख रहा है। इसे सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में नुकसान हुआ है जबकि दक्षिण गुजरात तथा मध्य गुजरात के आदिवासी विस्तारों में फायदा मिलता दिख रहा है।

शुरूआत में पिछड़ने के बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी राजकोट पश्चिम सीट जीत के करीब है और उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल पाटीदार बहुल सीट महेसाणा पर मात्र लगभग 1000 मतों से आगे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल मांडवी सीट पर पीछे हैं जबकि कांग्रेस में शामिल हुए ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर राधनपुर सीट पर आगे चल रहे हैं।

डभोई में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल पीछे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्षी जीतू वाघाणी भावनगर पश्चिम सीट पर आगे चल रहे हैं। कांग्रेस समर्थित निर्दलीय दलित कार्यकर्ता जिग्नेश मेवाणी वडगाम में जीत के करीब हैं। भाजपा के प्रत्याशी सह मंत्री शंकर चौधरी पीछे चल रहे हैं। इलीसब्रिज सीट पर भाजपा की 84 हजार से अधिक सीटों से जीत हुई है।

पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की सीट रही पाटीदार बहुल घाटलोडिया में भाजपा के भूपेन्द्र पटेल एक लाख से अधिक मतों से आगे हैं। मुख्य चुनाव अधिकारी बी बी स्वैन ने बताया कि राज्य भर में कुल 37 मतगणना केंद्र बनाये गये हैं जिनमें से अहमदाबाद में तीन और आणंद तथा सूरत में दो दो और शेष 30 जिलों में एक एक हैं।

सभी 182 विधानसभा सीटों के लिए पहले पोस्टल बैलट की मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हुई और साढ़े आठ बजे से इवीएम के वोटों की गणना शुरू हुई। कुल 16 बूथ पर आयोग के निर्देश के अनुरूप वीवीपैट पर्ची की गणना भी होगी। हर क्षेत्र के लिए इस बार पर्यवेक्षक के अलावा माइक्रो आब्जर्वरों की भी नियुक्ति हुई है। मतगणना संपन्न होने पर सभी क्षेत्र के एक बूथ के वीवीपैट पर्ची की भी पायलट परियोजना के तहत गिनती और मिलान किया जायेगा।

केंद्रीय सुरक्षा बल समेत कुल 20 हजार सुरक्षाकर्मी मतगणना के दौरान सभी केंद्रों पर तैनात किये गये हैं। इसके अलावा मतगणना से 20 हजार कर्मी जुड़े हैं। राज्य में नौ दिसंबर को पहले चरण में दक्षिण गुुजरात और सौराष्ट्र की 19 जिलों की 89 सीटों तथा 14 दिसंबर को दूसरे और अंतिम चरण में उत्तर और मध्य गुजरात के 14 जिलों की 93 सीटों पर मतदान तथा पहले चरण की छह बूथों पर पुनर्मतदान हुआ था। दूसरे चरण की छह बूथों पर कल पुनर्मतदान कराया गया था।

पहले चरण में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष परेश धानाणी, पूर्व अध्यक्ष शक्तिसिंह गोहिल और अर्जुन मोढवाडिया समेत 977 उम्मीदवार मैदान में थे। दूसरे चरण में उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल, मंत्री शंकर चौधरी, प्रदीप जाडेजा, भूपेन्द्रसिंह चूडासमा तथा कांग्रेस के अल्पेश ठाकाेर, पूर्व अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल और कांग्रेस समर्थित निर्दलीय जिग्नेश मेवाणी और कांग्रेस छोड़ भाजपा में आये अमूल डेयरी के चेयरमैन रामसिंह परमार समेत 851 प्रत्याशी यानी दोनो चरण मिला कर कुल 1828 उम्मीदवार मैदान में हैं।

इनमें सभी नौ कैबिनेट मंत्री, 11 राज्य मंत्री तथा सात संसदीय सचिव शामिल हैं। भाजपा ने सभी 182 सीटों पर जबकि कांग्रेस ने 178, बसपा ने 139, जदयू ने 28, शिव सेना ने 42, आम आदमी पार्टी ने 29 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने 58 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। इस बार औसत 68.41 प्रतिशत मतदान हुआ है जबकि पिछली बार यह प्रतिशत रिकार्ड 71.32 था। भाजपा को 2012 के पिछले चुनाव में 115, कांग्रेस को 61, बाद में भाजपा में विलय करने वाली गुजरात परिवर्तन पार्टी और राकांपा को दो दो तथा जदयू और निर्दलीय को एक एक सीटें मिली थी। सामान्य बहुमत के लिए 92 सीटें जरूरी हैं।

इस बार सबसे अधिक 34 उम्मीदवार वाली सीट महेसाणा हैं जबकि सबसे कम दो प्रत्याशी वाली सीट झालोद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar