आरटीपीसीआर ऐप के जरिए होगा कोरोना जांच का पंजीकरण

  • Devendra
  • 16/05/2020
  • Comments Off on आरटीपीसीआर ऐप के जरिए होगा कोरोना जांच का पंजीकरण

जयपुर। (वार्ता) राजस्थान के जोधपुर में कोरोना जांच के लिए अब लोगों के सैम्पल टेस्ट का पंजीकरण आरटीपीसीआर ऎप के माध्यम से ऑनलाइन किया जायेगा। एनआईसी दिल्ली द्वारा विकसित आरटीपीसीआर ऎप को पूरे देश में लागू किया गया है और कोरोना जांच के लिए अब सभी व्यक्तियों के सैम्पल टेस्ट का पंजीकरण इस ऎप के माध्यम से ऑनलाइन किया जायेगा। इसका प्रशिक्षण एवं वीडियो कांफ्रेसिंग शुक्रवार को सभी जिला एनआईसी अधिकारियों के साथ की गई।

एनआईसी जोधपुर के वरिष्ठ तकनीकी निदेशक हनुमानसिंह गहलोत ने बताया कि इसमें उप महानिदेशक तरूण तोसनीवाल ने निर्देश दिए कि अब सभी व्यक्तियों के सैम्पल टेस्ट का पंजीकरण इस ऎप के माध्यम से ऑनलाइन किया जायेगा तथा आफलाइन को तुरन्त बंद किया जाए। उन्होंने बताया कि इससे आई सी एम आर के पोर्टल पर त्रुटि रहित डेटा सीधा ही डाला जा सके। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण की पहचान व चैन तोड़ने के उद्देश्य से जोधपुर में आर टी-पी सी आर टेस्ट सैम्पल का एडंवास डेटा कलेक्शन किया जा रहा है।

जिला कलेक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित के निर्देशन में कंटेनमेंट जोन में शिविर लगाने के साथ डोर-टू-डोर सैम्पलिंग की जा रही है। अभी अधिकतर सैम्पलिंग डेटा आफलाइन इंद्राज किया जा रहा है। उन्होने बताया कि जोधपुर में अब सैम्पल साइट से सैम्पल लेने वाले नागरिकों के संपूर्ण डेटा का संधारण करने में भी आसानी रहेगी। दूसरी ओर सैम्पल देने वाले लोगों में भी अपने जांच के स्टेटस जानने के बारे में असमंजस बना रहता था। अब हर कोई ऎप के लिंक कोविड19सीसीडाटनीकडाटइन पोर्टल पर जाकर नम्बर डालकर ओ टी पी जनरेट करके अपनी जांच का स्टेटस मोबाइल या सैम्पल आई डी से जान सकते है।

जिला स्तर पर आर टी-पी सी आर जांच के संग्रह केन्द्रों की सूची को देखा जा सकता है। जोधपुर में अब सैम्पलिंग साइट से सैम्पल लेने वाले नागरिक द्वारा मोबाइल ओटीपी से प्रमाणीकरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आई सी एम आर द्वारा इस ऎप के माध्यम से दुबारा जांच की सुविधा भी दी गई है व उपलब्ध रिकॅार्ड व एस आर फार्म को पी डी एफ फाइल फॅारमेट में सुरक्षित किया जा सकता है।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar