“परमाणु युद्ध” की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता: जंजुआ

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासीर खान जंजुआ ने दक्षिण एशिया में सुरक्षा स्थिति के “नाजुक” होने की चेतावनी देते हुए कहा कि “परमाणु युद्ध” की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

जंजुआ ने सेंटर फार ग्लोबल एंड स्ट्रेटेजिक स्टडीज की आेर से राष्ट्रीय सुरक्षा पर कल यहां आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा,“दक्षिण एशियाई क्षेत्र की स्थिरता एक नाजुक मोड़ पर लटकी हुई है और परमाणु युद्ध की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने भारत पर “खतरनाक हथियारों का जखीरा” जमा करने का आरोप लगाते हुए पारंपरिक युद्ध की चेतावनी दी। दिलचस्प तथ्य यह है कि अमेरिकी सुरक्षा नीति दस्तावेज में भारत-पाकिस्तान के बीच जारी सैन्य कार्रवाई के परमाणु युद्ध में बदलने की संभावना व्यक्त की गयी है।

जंजुआ ने इसे गंभीर चिंता का विषय बताते हुए कहा कि पाकिस्तान को अपनी परमाणु संपत्ति के दायित्व में अपनी जिम्मेदारी का प्रदर्शन जारी रखना होगा। जंजुआ ने अमेरिका पर भारत का पक्ष लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि उसने पाकिस्तान की “आतंकवाद के विरूद्ध लड़ाई में भारी त्याग” की अनदेखी की है।

पाकिस्तानी मीडिया ने जंजुआ के हवाले से कहा,“अमेरिका भारत की भाषा बोल रहा है और दोनों ही कश्मीर विवाद को ठंडे बस्ते में डालने को लेकर समान विचारधारा रखते हैं। यही कारण है कि अमेरिका अफगानिस्तान में भारत को बड़ी भूमिका निभाने देने के लिए तैयार है, जबकि इस क्षेत्र में अपनी असफलता छुपाने के लिए पाकिस्तान को दोषी ठहराया जाता है।

उन्होंने अमेरिका पर भारत के साथ मिलकर चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कोरिडोर के खिलाफ साजिश रचने का भी आरोप लगाया। अमेरिका अपनी नीति के तहत दक्षिण एशिया में चीन के प्रभाव का मुकाबला करने के प्रयास में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar