राहुल के नेतृत्व में मुखर होकर संघर्ष करेगी कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस कार्यसमिति ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर चंद वोटों के लिए “देशद्राेह’’ का आरोप लगाने तथा 2जी घोटाले में झूठ का तानाबाना बुनकर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार को बदनाम करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा भारतीय जनता पार्टी की कड़ी भर्त्सना की है और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी को मजबूत बनाने के लिए जनता के बीच जाकर संघर्ष तेज करने का ऐलान किया है।

कांग्रेस की बागडोर संभालने के बाद श्री गांधी की अध्यक्षता में पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारक इकाई कार्य समिति की पहली बैठक करीब ढाई घंटे चली जिसमें करीब डेढ घंटे मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा की गयी।

बैठक के बाद संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इसमें गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डॉ सिंह, पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व सेना प्रमुख दीपक कपूर तथा कई प्रमुख राजनयिकों पर चंद वोटों के लिए ‘राजद्राेह’ का आरोप लगाने पर गंभीर चिंता व्यक्त की गयी। उन्होंने कहा “श्री मोदी ने इससे जिस तरह जनमत और संसद का अपमान किया है तथा देश के प्रमुख लोगों पर आरोप लगाए हैं और अपने संबंधित बयान को वापस नहीं लिया है वह निंदनीय है।”

प्रवक्ता ने कहा कि बैठक में कांग्रेस को और मजबूत करने के लिए संघर्ष का रास्ता अपनाने पर चर्चा हुई। पार्टी अध्यक्ष के नेतृत्व में जनता के बीच जाकर कांग्रेस की परंपरा के अनुसार संघर्ष की परिपाठी को और तेज करने तथा मुखर होकर जनाधार बढाने के लिए काम करने का फैसला किया गया ताकि आने वाले चुनावों में पार्टी आसानी से जीत हासिल करे। इस मुद्दे पर कार्य समिति के सभी सदस्य एकमत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar