पाक की मंशा पर विदेश मंत्रालय का सवाल, क्‍यों नहीं लौटाए जाधव की पत्‍नी के जूते

नई दिल्ली। पाकिस्तान में कुलभूषण जाधव से मुलाकात कर दिल्ली लौटे उनके परिजनों ने मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से उनके सरकारी निवास पर मुलाकात की। इस दौरान जाधव की मां और पत्नी ने मुलाकात से जुड़े सभी तथ्यों को विदेश मंत्री के साथ साझा किया। इस दौरान विदेश सचिव और पाकिस्तान में भारत के उप उच्चायुक्त जेपी सिंह भी मौजूद थे।

मुलाकात के दौरान परिवारवालों से जिस तरह का सलूक हुआ, भारत ने उस पर कड़ा ऐतराज जताया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि मुलाकात से पहले दोनों देश कूटनीतिक स्तर पर संपर्क में थे। इस दौरान मुलाकात पर दोनों पक्षों से साझा समझ तैयार की थी। मगर पाकिस्तान ने इस समझ का उल्लंघन किया। बैठक का माहौल परिजनों के लिए बेहद डरावना था।

इस दौरान जाधव बेहद तनाव में थे। वह जोर जबर्दस्ती के बीच सिखाई गई बातें बोल रहे थे। प्रवक्ता ने परिजनों के कपड़े बदलवाने, चूडिय़ां-बिंदी हटाने और जूतियां उतरवाने पर गहरी नाराजगी जताई और इसे धार्मिक भावनाओं का अपमान बताया। यहां तक कि जाधव की पत्नी के जूते तक वापस नहीं किए गए।

उधर भारत की आपत्तियों पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जाधव की पत्नी के जूते सुरक्षा के मद्देनजर जब्त किए गए थे क्योंकि उनमें कुछ संदिग्ध चीज थी। बयान में ये भी कहा गया है कि पाकिस्तान भारत के साथ बेमतलब से शब्दों की जंग में नहीं पड़ना चाहता है।

पाकिस्तान ने अपने बयान में कहा है कि अगर भारत की चिंताएं गंभीर थीं तो जाधव की मां-पत्नी या उप उच्चायुक्त उसे यात्रा के दौरान ही मीडिया के साथ उठाते जो वहीं मौजूद थी। पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता फैसल मोहम्मद ने ये भी कहा कि जाधव की पत्नी के जूतों की जांच चल रही है।

कुलभूषण की मां और पत्नी करीब एक घंटे तक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ रहे। इस दौरान दोनों ने मुलाकात के समय की स्थिति, पाकिस्तानी अधिकारियों के रवैये और कुलभूषण की स्थिति से संबंधित अपनी आपबीती सुनाई। सुषमा ने दोनों को कुलभूषण की रिहाई के लिए हर संभव कदम उठाने का भरोसा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar