दशरथ पुत्र जन्म सुनि काना, मांनहू ब्रह्मानंद समाना

  • Devendra
  • 27/12/2017
  • Comments Off on दशरथ पुत्र जन्म सुनि काना, मांनहू ब्रह्मानंद समाना

गुलाबपुरा। श्री दिव्य सत्संग मंडल गुलाबपुरा-बिजयनगर के तत्वावधान में आयोजित रामकथा के पांचवें दिन कथावाचक पुष्कर पीठाधीश्वर 1008 महामंडलेश्वर श्री दिव्य मुरारी बापू ने श्री राम जन्मोत्सव की कथा श्रवण कराई और उन्होंने बताया कि गुरूवार की कथा में भगवान सीताराम का जन्मोत्सव मनाया जायेगा।

‘दशरथ पुत्र जन्म सुनि काना, मांनहू ब्रह्मानंद समाना।’ जैसे ही दासी के मुख से पुत्र जन्म की खबर महाराज दशरथ को मिली उनको ब्रह्मानंद प्राप्त होगा। क्योंकि जब भव आता है तो ब्रह्मानन्द को प्राप्ति स्वयं हो जाती हैं। हमारे जीवन में सुख है तो दु:ख भी होगा। जैसे रात होती है तो दिन भी होता हैं। हर्ष है तो शोक भी होगा। भगवान की प्राप्ति जीवन में होने पर जीव को आनंद और फिर ब्रह्मानन्द और फिर परमानन्द की प्राप्ति स्वत: ही हो जाती हैं। दीपसिंह ने परिवार सहित पूजा का लाभ प्राप्त किया।

इस अवसर पर दिव्य सत्संग मंडल के अध्यक्ष रामकुमार चौधरी, रघुराज सिंह, नन्दकिशोर काबरा, विजयप्रकाश शर्मा, घीसालाल सहित सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने धर्म प्रवचन का लाभ प्राप्त किया।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar