जैनी जिनवाणी सुने और जीवन के आचरण में लाए: कमलप्रभा जी म.सा.

  • Devendra
  • 29/07/2021
  • Comments Off on जैनी जिनवाणी सुने और जीवन के आचरण में लाए: कमलप्रभा जी म.सा.

गुलाबपुरा। (खारीतट सन्देश) आचार्य श्री सुदर्शनलाल जी म.सा. की शिष्या साध्वी रत्न गुरुणी कमलप्रभा जी म.सा. चातुर्मास हेतु गुलाबपुरा विराजमान है। नौरतमल चपलोत ने बताया कि म.सा. प्रात: 8:45 से 10 बजे तक नियमित रुप से प्रवचन देंगे। वहीं युवा मंडल प्रात: 6:30 से 7:15 बजे तक धर्मचर्चा के माध्यम से ज्ञान सीख रहे है। गुरुणी जी का सदैव यही लक्ष्य रहता है कि युवा संस्कारवान हो। उनका मानना है कि मैं आत्मा हूं, कौनसी आत्मा? संसारी आत्मा में जैन हूं, कैसा जैन? जो जिन आज्ञा का पालन करे, सात व्यसन त्यागे, रात्रि भोजन ना करे, जमीकंद का त्याग करे यथा संभव जिनवाणी सुने और जीवन के आचरण में लाए ऐसा जैनी होना चाहिए।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar