भाविप व आयुर्वेद विभाग के शिविर में 111 रोगी लाभांवित

बिजयनगर। भारत विकास परिषद शाखा बिजयनगर एवं आयुर्वेद विभाग, राजस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित नि:शुल्क अर्श-भगंदर आयुर्वेद शल्य चिकित्सा शिविर में 55 अर्श-भगन्दर एवं परिकर्तिका के रोगियों की आयुर्वेद की प्राचीनतम शल्य चिकित्सा विद्या क्षार सूत्र द्वारा उपचार किया गया। जिसमें राजस्थान के ख्यातिमान क्षारसूत्र शल्य चिकित्सक डॉ. रमाशंकर पंचौरी (ब्यावर) व उनकी टीम के शल्य चिकित्सक डॉ. सुनिल कनोडिय़ा हुरड़ा (भीलवाड़ा) एवं डॉ. प्रमोद जोनवाल निमोला, टोंक द्वारा सफल ऑपरेशन किये गये।

शिविर में कुल 111 रोगियों को परामर्श एवं उपचार प्रदान किया गया। शिविर में धौलपुर, नागौर, भीलवाड़ा, टोंक आदि जिलों से आये रोगियों ने चिकित्सा लाभा लिया। शिविर स्व. श्रीमती पुष्पादेवी (धर्मपत्नि स्व. श्री पुरूषौत्तमलाल अग्रवाल) की पुण्य स्मृति में आयोजित किया गया।

जिसमें रोगियों को ऑपरेशन, भोजन, दवाईयाँ सभी नि:शुल्क उपलब्ध कराई गई। शिविर में भारत विकास परिषद के सभी सदस्यों ने नर नारायण सेवा को अपना ध्येय मानकर सेवाऐं प्रदान की।

शिविर में भर्ती कई रोगी अपनी बिमारी से वर्षो से परेशान थे एवं कई जगह इलाज करा चुके थे। अब शिविर में ऑपरेशन के बाद सभी रोगी अपने आपकों स्वस्थ महसूस करते हुए भारत विकास परिषद एवं आयुर्वेद विभाग को धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar